पंजाब: बढ़ती भुखमरी पर बोले मंत्री- कोई भूखा नहीं सोता, लोग वजन घटाने के लिए नहीं खाते खाना

नीति आयोग के सतत विकास लक्ष्य (SDG) सूचकांक-2019 में पंजाब 2018 के मुकाबले 2019 में दो पायदान नीचे खिसक कर 10वें से 12वें स्‍थान पर आ गया है.

पंजाब में तेजी से बढ़ रही भुखमरी और गरीबी से जुड़ी नीति आयोग की रिपोर्ट पर पंजाब सरकार के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिद्धू ने अजीब बयान दिया है, सिद्दू ने कहा पंजाब में जो भी भूखा सोता है वह वजन घटाने के लिए ऐसा करता है.

नीति आयोग की रिपोर्ट पर पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि पंजाब में कोई बिना खाना खाए सोता है, जो कोई भी ऐसा करता है वह शायद वजन कम करने के लिए ऐसा करता होगा. पंजाब के लोग एक अच्छी और पौष्टिक डाइट लेते हैं, किसी के भूखे सोने का कोई सवाल ही नहीं उठता है.”

वहीं एक और मंत्री एस.एस. धरमसोट ने भी नीति आयोग की इस रिपोर्ट को गलत बताया है, उन्होंने कहा, “हमारे यहां कभी भुखमरी थी ही नहीं. सभी को काम करना चाहिए और जो लोग काम करते हैं वो कभी भुखमरी से नहीं मर सकते हैं. यह आंकड़े गलत हैं. हम राज्य के लोगों को फ्री में आटा और दाल देते हैं, यहां तक कि लोगों को रोटी भी बनाने की जरूरत नहीं पड़ती है.”

गौरतलब है कि नीति आयोग के सतत विकास लक्ष्य (SDG) सूचकांक-2019 में पंजाब 2018 के मुकाबले 2019 में दो पायदान नीचे खिसक कर 10वें से 12वें स्‍थान पर आ गया है. इस रिपोर्ट के मुताबिक भुखमरी के साथ-साथ प्रदेश में गरीबी भी तेजी से बढ़ रही है. हालांकि शिक्षा को लेकर पंजाब के लिए थोड़ी राहत की बात है. गुणवत्तापूर्ण शिक्षा में राज्य ने चार अंकों की बढ़ोतरी की है.

ये भी पढ़ें: कोटा: बच्चों की मौत को लेकर हाईलेवल कमेटी गठित, गहलोत बोले- CAA से ध्‍यान हटाने को उठा रहे मुद्दा