पंजाब में पाकिस्तान समर्थित खलिस्तानी आतंकी मॉड्यूल का पर्दाफाश, हथियारों के साथ 2 गिरफ्तार

डीजीपी (DGP) दिनकर गुप्ता ने कहा कि पाकिस्तान समर्थित मॉड्यूल (Pakistan Supportive Module) का खुलासा खुफिया इनपुट्स के आधार पर किया गया.

पंजाब (Punjab) में एक और आतंकी घटना को नाकाम करते हुए पंजाब पुलिस (Punjab Police) ने खलिस्तान समर्थक (Khalistan Supporters) आतंकी संगठन के मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है. इसके साथ ही पुलिस ने आतंकी संगठन के दो सदस्यों को भी गिरफ्तार किया है. ये मॉड्यूल वर्तमान में अमृतसर जेल में बंद KZF संचालक समेत अन्य पांच अपराधियों के साथ मिलकर काम कर रहा था.

डीजीपी (DGP) दिनकर गुप्ता ने कहा कि पाकिस्तान समर्थित मॉड्यूल (Pakistan Supportive Module) का खुलासा खुफिया इनपुट्स के आधार पर किया गया. सूचना थी कि राज्य में शांति और सद्भाव में खलल डालने की कोशिश की जा रही है. गुप्ता ने कहा कि इनपुट्स के बाद पंजाब पुलिस ने देश के विभिन्न हिस्सों से राज्य में प्रवेश करने वाले सभी लोगों की जांच के लिए एक अभियान शुरू किया. जिसके बाद ज़िला तरनतारन से हरजीत सिंह उर्फ राजू और शमशेर सिंह उर्फ शेरा को गिरफ्तार किया.

कई धाराओं में मामला दर्ज

राजपुरा में होटल जशन के पास चेकपोस्ट पर छह अत्याधुनिक हथियार जिसमें एक 9 एमएम पिस्टल, चार .32 कैलिबर पिस्तौल और एक .32 रिवाल्वर के साथ 8 जिन्दा राउंड, कई मोबाइल फोन और एक इंटरनेट डोंगल जब्त किए गए. इन आतंक समर्थकों के खिलाफ धारा 212, 216, 120 बी, आईपीसी, 25/54/59 समेत कई अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया है.

डीजीपी के मुताबिक प्रारंभिक जांच में आरोपियों ने खुलासा किया कि उन्हें बुरहानपुर, मध्य प्रदेश से 4 हथियार मिले थे. वहीं हरियाणा के जींद ज़िले के सफीदों से 2 हथियार मिले थे. प्रारंभिक जांच में पता चला है कि ये दो लोग पंजाब में एक बड़े आतंकवादी हमले की योजना बना रहे थे. शुभदीप सिंह के बारे में जानकारी साझा करते हुए डीजीपी ने कहा कि वह खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स (केजेडएफ) का सक्रिय आतंकवादी था, जिसे पंजाब पुलिस ने सितंबर 2019 में अमृतसर ग्रामीण जिले के गांव महवा से चीन निर्मित ड्रोन की बरामदगी के बाद गिरफ्तार किया था.

Related Posts