हिमाचल के पहाड़ोंं में रात में टेक ऑफ करने की प्रैक्टिस कर रहे राफेल, हथियारों की भी हो रही टेस्टिंग

राफेल (Rafale) के सभी हथियारों जैसे एयर-टु-एयर मिसाइल और एयर-टु-ग्राउंड मिसाइलों की भी टेस्टिंग की जा रही है, ताकि भविष्य में LAC पर चीन (China) के साथ स्थिति बगड़ने पर राफेल विमान मोर्चा संभाल सके.
Rafale practicing in mountains of Himachal, हिमाचल के पहाड़ोंं में रात में टेक ऑफ करने की प्रैक्टिस कर रहे राफेल, हथियारों की भी हो रही टेस्टिंग

हाल ही में इंडियन एयरफोर्स (IAF) में शामिल हुए पांच राफेल (Rafale) फाइटर जेट ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है. इसी कड़ी में राफेल हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के पहाड़ी इलाकों में रात में टेक-ऑफ करने की प्रैक्टिस कर रहे हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, इस दौरान राफेल के सभी हथियारों जैसे एयर-टु-एयर मिसाइल और एयर-टु-ग्राउंड मिसाइलों की भी टेस्टिंग की जा रही है, ताकि भविष्य में LAC पर चीन के साथ स्थिति बगड़ने पर राफेल विमान मोर्चा संभाल सके.

राफेल को LAC से रखा गया दूर

सरकार के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि राफेल विमान को अभी LAC से दूर रखा गया है, ताकि अक्साई चीन में तैनात पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के रडार इनके फ्रीक्वेंसी सग्नेचर को पकड़ न लें और स्थिति बिगड़ने में वे इनको जैम भी कर सकते हैं.

“राफेल में है फ्रीक्वेंसी बदलने की क्षमता”

मिलट्री एविएशन एक्सपर्ट्स ने कहा कि राफेल को लद्दाख में ट्रेनिंग के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है, क्योंकि सभी फाइटर जेट्स प्रोग्रामेबल सिग्नल प्रोसेसर से लैस हैं और इनमें स्थिति के मुताबिक अपनी फ्रीक्वेंसी बदलने की भी क्षमता है.

PLA का है बड़ा मजबूत रडार 

विशेषज्ञों ने कहा कि भले ही PLA ने अक्साई चीन में पहाड़ की चोटी पर अपने इलेक्ट्रॉनिक इंटेलिजेंस रडार तैनात किए हैं, लेकिन युद्ध की स्थिति में राफेल एक अलग मोड में होंगे. हालांकि PLA के रडार अच्छे हैं क्योंकि वे अमेरिकी वायु सेना को ध्यान में रखते हुए बनाए गए हैं.

बता दें कि पांच राफेल का पहला जत्था 29 जुलाई को अंबाला एयरबसे पर पहुंचा था. राफेल लड़ाकू विमानों के दो स्क्वोड्रन में से एक पाकिस्तान में पश्चिमी सीमा के लिए अंबाला में स्थित होगा, जबकि दूसरा स्क्वोड्रन पश्चिम बंगाल में हरिमारा में स्थित होगा और वह चीन सीमा के लिए समर्पित होगा.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts