राहुल गांधी बोले- क्या भारतीय सीमा में नहीं आए चीनी सैनिक? भरोसा दे सरकार!

इससे पहले विदेश मंत्रालय (MEA) और खुद रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) इस बात को कई बार दोहरा चुके हैं कि चीन के साथ हमारी बातचीत जारी है, हम रणनीतिक तौर पर इस मामले को सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं.
Can GOI confirm that no Chinese soldiers have entered India?, राहुल गांधी बोले- क्या भारतीय सीमा में नहीं आए चीनी सैनिक? भरोसा दे सरकार!

भारत-चीन (India-China) सीमा विवाद के बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए एक सवाल किया है. राहुल गांधी ने केंद्र सरकार से पूछा है कि क्या भारत सरकार इस बात का भरोसा दिला सकती है कि चीनी सैनिक भारतीय सीमा में नहीं आए.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

अपने सवाल की मजबूती के लिए राहुल गांधी ने एक खबर को भी ट्वीट किया है. राहुल गांधी ने जो खबर ट्वीट की है कि उसमें इस बात कि जिक्र किया गया है कि भारत और चीन दोनों सेनाओं के उच्च अधिकारी इस मामले को बातचीत के जरिए सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं, साथ ही इस खबर में ये भी कहा गया है कि ऊंचाई पर चीनी सैनिक मौजूद थे.

इससे पहले, राहुल गांधी ने 29 मई को केंद्र सरकार पर हमला बोला था. एक ट्वीट में, राहुल गांधी ने कहा, “चीन के साथ सीमा की स्थिति के बारे में सरकार की चुप्पी संकट के समय में भारी अटकलों और अनिश्चितता को हवा दे रही है. भारत सरकार को स्पष्ट करना चाहिए और भारत को बताना चाहिए कि वास्तव में क्या हो रहा है.” वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मीडिया को अपने चौथे संबोधन के दौरान 26 मई को पूर्व कांग्रेस प्रमुख ने कहा था, “सीमा पर क्या हुआ, इसका विवरण सरकार को लोगों के साथ साझा करना चाहिए.”

उन्होंने कहा कि नेपाल के साथ क्या हुआ और क्यों हुआ, लद्दाख में क्या हो रहा है ये सब स्पष्ट किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा, “लद्दाख और चीन का मुद्दा एक जीवंत मुद्दा है, यहां पारदर्शिता की आवश्यकता है.”

इससे पहले विदेश मंत्रालय (MEA) और खुद रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) इस बात को कई बार दोहरा चुके हैं कि चीन के साथ हमारी बातचीत जारी है, हम रणनीतिक तौर पर इस मामले को सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं. हम तय प्रक्रिया के तहत दोनों देशों के बीच के इस विवाद को सुलझाएंगे.

राजनाथ सिंह ने ये भी कहा था कि डोकलाम (Doklam) के वक्त भी भारत ने इसी तरह की नीति के तहत कदम उठाया था. आपको बता दें कि आगामी 6 जून को भारत और चीन दोनों देशों के सीनियर कमांडर्स के बीच इस मामले को लेकर एक मीटिंग होनी है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts