उन्नाव मामले पर बोले राहुल गांधी- घटना से मानवता शर्मसार

वायनाड के सांसद ने अपने ट्वीट में कहा, "उन्नाव की बेटी की दुर्भाग्यपूर्ण मौत से मैं गुस्से में हूं और स्तब्ध हूं. इस घटना ने समूची मानवता को शर्मसार किया है.

नई दिल्ली: पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत पर शोक जताते हुए कहा कि एक बेटी ने न्याय का इंतजार करते-करते अपनी जिंदगी खो दी. इससे ‘समूची मानवता शर्मसार’ हुई है.

वायनाड के सांसद ने अपने ट्वीट में कहा, “उन्नाव की बेटी की दुर्भाग्यपूर्ण मौत से मैं गुस्से में हूं और स्तब्ध हूं. इस घटना ने समूची मानवता को शर्मसार किया है. एक और युवती ने न्याय और सुरक्षा मांगते हुए अपनी जिंदगी खो दी. दुख की इस घड़ी में, मैं पीड़ित परिवार के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं.”

उनकी यह टिप्पणी उन्नाव की 23 वर्षीय दुष्कर्म पीड़िता की शुक्रवार रात दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत हो जाने के अगले दिन आई है. पीड़िता दुष्कर्म मामले की सुनवाई के लिए जब रायबरेली अदालत जा रही थी, आरोपी सहित पांच लोगों ने उसके गांव के पास ही उसे जिंदा जलाने का प्रयास किया. 90 फीसदी जल चुकी पीड़िता का पहले लखनऊ में उपचार किया गया, हालत नाजुक देखते हुए बाद में उसे एयर एम्बुलेंस से सफदरजंग अस्पताल लाया गया.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा इस समय दो दिन के लखनऊ दौरे पर हैं. उन्होंने उन्नाव जाकर पीड़ित परिवार के सदस्यों से मुलाकात की.
कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनाते ने कहा, “दुष्कर्म पीड़िता को एफआईआर दर्ज कराने के लिए चार महीने मशक्कत करनी पड़ी और मामला तब दर्ज किया गया जब अदालत ने निर्देश दिया। न्याय की उम्मीद लिए हुए वह दुनिया से चली गई. वह जीना चाहती थी। वह दुष्कर्मी को दंडित होते देखना चाहती थी.”

उन्होंने कहा, “एक समाज के रूप में हमने उसे विफल कर दिया. उत्तर प्रदेश सरकार को जिम्मेदारी लेनी चाहिए. वहां कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है.”