राहुल गांधी को सांसद होने का नैतिक अधिकार नहीं : राजनाथ सिंह

केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के 'रेप इन इंडिया' टिप्पणी पर निशाना साधते हुए कहा कि राहुल को सांसद होने का नैतिक अधिकार नहीं है और उन्हें चाहिए कि वह संसद में माफी मांगें.
Rahul Gandhi rape remark, राहुल गांधी को सांसद होने का नैतिक अधिकार नहीं : राजनाथ सिंह

नई दिल्ली: केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के ‘रेप इन इंडिया’ टिप्पणी पर निशाना साधते हुए कहा कि राहुल को सांसद होने का नैतिक अधिकार नहीं है और उन्हें चाहिए कि वह संसद में माफी मांगें. सदन में हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही स्थगित होने के बाद लोकसभा की बैठक जब दोबारा शुरू हुई, तब सिंह ने इस मुद्दे पर अपनी बात रखी.

उन्होंने कहा, “हमारे देश को चोट पहुंची है. हम अपने सहयोगियों को इस सदन में यहां लाए थे, ताकि बाहर दिए गए उनके बयानों पर खेद व्यक्त कर सकें. उन्हें (राहुल गांधी) भी इस सदन में आना चाहिए और अपने बयान पर माफी मांगनी चाहिए. उन्हें सांसद होने का कोई नैतिकता अधिकार नहीं है.”

इसके बाद राहुल सदन में पहुंचे. इस बीच, कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उनके नेता के खिलाफ गलत आरोप लगा रही है.

हंगामे के चलते लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला को सदन की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी. यह मुद्दा संसदीय मामलों के राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने उठाया. इससे पहले लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने 13 दिसंबर, 2001 को हुए संसद हमले में अपने प्राणों की आहूति देने वाले सुरक्षाकर्मियों को श्रद्धांजलि अर्पित की.

मेघवाल ने कहा कि राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘मेक इन इंडिया’ के नारे को ‘रेप इन इंडिया’ (भारत में दुष्कर्म) बना दिया.

उन्होंने कहा, “क्या वह लोगों को भारत में दुष्कर्म करने के लिए बुला रहे हैं? इसका क्या मतलब है? यह शर्मनाक है. उन्हें देश के लोगों से माफी मांगनी चाहिए.”

इसके बाद भाजपा सदस्य और पश्चिम बंगाल के सांसद लॉकेट चटर्जी ने राहुल गांधी के बयान की निंदा करते हुए कहा, “क्या राहुल गांधी चाहते है कि लोग भारत में महिलाओं के साथ दुष्कर्म करें? क्या उनकी यही सोच है?”

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि इतिहास में यह पहली बार हो रहा है, जब एक सांसद लोगों को ‘भारतीय महिलाओं के साथ दुष्कर्म’ करने का निमंत्रण दे रहे हैं.

उन्होंने कहा, “गांधी परिवार के बेटे लोगों को महिलाओं के साथ दुष्कर्म करने के लिए कह रहे हैं.”

राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी के शासन में महिलाओं के खिलाफ अपराधों को उजागर करने के लिए गुरुवार को झारखंड के गोड्डा जिले में एक सार्वजनिक रैली के दौरान विवादास्पद ‘रेप इन इंडिया’ वाली टिप्पणी की थी.

उन्होंने कहा था, “मोदी जी का प्रिय प्रोजेक्ट ‘मेक इन इंडिया’ अब वर्तमान समय में ‘रेप इन इंडिया’ हो गया है.”
भाजपा की सभी महिला सांसद ‘राहुल गांधी माफी मांगों’ और ‘हमें न्याय चाहिए’ की नारेबाजी करते हुए एक तरफ जमा हो गईं. आरोपों को खारिज करते हुए विपक्षी नेता भी अपनी सीट से खड़े हो गए.

इस पूरे हंगामे के दौरान राहुल को भी सदन के अंदर देखा गया. जारी हंगामे के बीच टेलीविजन विजुअल्स में वह मुस्कुराते हुए दिखे.

Related Posts