क्यों हुई खिलौनेवाले अवधेश दुबे की गिरफ्तारी? रेल मंत्रालय ने बताई वजह

सोशल मीडिया पर नेताओं का मजाक उड़ाने की वजह से वायरल हुए अवधेश दुबे की गिरफ्तारी पर रेलवे पुलिस ने सफाई देते हुए बताया है कि अवधेश की गिरफ्तारी राजनीतिक कारणों से नहीं हुई है.
Avadhesh Dubey, क्यों हुई खिलौनेवाले अवधेश दुबे की गिरफ्तारी? रेल मंत्रालय ने बताई वजह

नई दिल्ली: ट्रेन के अंदर अनोखे तरीके से सामान बेचने को लेकर सोशल मीडिया पर सुर्खियां बटोर रहे अवधेश दुबे को 10 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. इसके साथ ही उसपर साढ़े तीन हज़ार रुपए का जुर्माना भी लगाया गया.

अवधेश की गिरफ्तारी को लेकर सोशल मीडिया पर रेलवे पुलिस की आलोचना की गई और अवधेश को छोड़ने का अनुरोध भी किया. इस मामले पर रेलवे पुलिस ने सफाई देते हुए कहा कि अवधेश दुबे की गिरफ्तारी नेताओं पर हंसी-मजाक के चलते नहीं हुई है. रेलवे पुलिस ने स्पष्ट किया है कि अवधेश की गिरफ्तारी किसी भी तरह के राजनीतिक कारण से नहीं की गई है.

रेल मंत्रालय ने अपने ट्विटर हैंडल से एक लेटर पोस्ट किया है. इसमें बताया गया है कि अवधेश दुबे की गिरफ्तारी अनधिकृत लोगों पर चलाए गए अभियान की वजह से हुई है. अवधेश पर रेलवे ऐक्ट के अंतर्गत 147, 144(A), और 145 (B) के तहत कार्रवाई की गई है. इसके साथ अवधेश को कोर्ट में भी पेश किया गया.

Avadhesh Dubey, क्यों हुई खिलौनेवाले अवधेश दुबे की गिरफ्तारी? रेल मंत्रालय ने बताई वजह

दरअसल हाल ही में सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी वायरल हुआ जिसमें अवधेश दुबे मनोरंजक तरीके से ट्रेन में खिलौने बेच रहा है. अवधेश इस वीडियो में पंचलाइनों में बात करते हुआ दिख रहा है.

‘इतना चलता है कि बच्चा तो छोड़ो बाप भी चुप हो जाएगा. कौन है बेबी है कि बेबा.. अच्छा मोदी जी हैं मुझे लगा आनंदी जी हैं. मोदी जी के लिए डोरेमॉन, नाम तो सुना ही होगा. 120 का बेचता हूं 100 के नीचे 99 में भी नहीं देता हूं. कैश नहीं है तो पेटीएम से लेता हूं. पांडे जी का बेटा हूं. खिलौने बेच के जीता हूं. बच्चों के लिए इतना नहीं सोचते हैं मैय्या. आपका खेलता है तो हमारा खाता है. हम इंडियन्स की खासियत है दूसरों की थाली में चावल लंबा ही दिखता है. ऐसे ही केजरीवाल को मोदी की थाली में दिख रहा था अब अपनी भी थाली छिन रही है. आप टेंशन मत लीजिए फोन नंबर दे दूंगा, ख़राब होगा तो फोन कर लीजएगा.. बता दूंगा कि कहां फेंकना है. पूरी बातचीत सुनने के लिए आप नीचे के ट्विटर लिंक देख सकते हैं.

अवधेश दुबे के खिलाफ सीआर 1228/19 यू / एस 144 (ए), 145 (बी), 147 आरए के तहत मामला दर्ज किया गया था. उन्हें सूरत में न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी की अदालत में पेश किया गया जहां उन्होंने अपना अपराध स्वीकार किया, उन पर 3500 रुपये का जुर्माना लगाया गया और 10 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया.

रेलवे सुरक्षा बल के निरीक्षक (सूरत) ईश्वर सिंह यादव ने कहा, ‘हमने अवधेश दुबे पर अनधिकृत वेंडिंग के लिए मामला दर्ज किया है.’

उन्होंने कहा, ‘अवधेश दुबे का वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर बहुत लोकप्रिय हो गया है और हमें भी उसका वीडियो प्राप्त हुआ है. वह वीडियो क्लिप में राजनीतिक नेताओं पर टिप्पणी करते नजर आ रहा है. ग्राहकों से बात करने का उनका तरीका काफी प्रभावशाली है.’

Related Posts