व्यस्त स्टेशनों पर यात्रियों से शुल्क वसूलेगा रेलवे, बढ़ सकता है ट्रेनों का किराया

टोकन यूजर फीस (Token User Fee) का इस्तेमाल रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास और स्टेशन के बुनियादी ढांचे के नवीकरण के लिए किया जाएगा. हवाई यात्रा की तरह ही रेलवे यात्रियों से भी फीस ली जाएगी.

भारतीय रेलवे (Indian Railway) जल्द ही बिजी स्टेशनों पर यात्रियों से ‘टोकन यूजर फीस’ वसूलना शुरू करेगी, इससे यात्रियों के किराए में भी बढ़ोत्तरी हो सकती है. टोकन यूजर फीस का इस्तेमाल रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास और स्टेशन के बुनियादी ढांचे के नवीकरण के लिए किया जाएगा.

हवाई यात्रा की तरह ही रेलवे यात्रियों से भी टोकन यूजर फीस (Token User Fee) लिया जाएगा. रेलवे स्टेशनों के सीईओ और अध्यक्ष वीके यादव ने कहा कि यात्रियों से फीस के लिए बहुत ही कम राशि वसूली जाएगी . सिर्फ उन स्टेशनों के लिए फीस ली जाएगी, जिनमें मौजूदा समय में पुनर्विकास किया जा रहा है, और जिनका अभी पुनर्विकास नहीं किया गया है.

‘पुनर्विकास पूरा होने पर टोकन यूजर फीस में रियायत’

वीके यादव ने कहा कि जब स्टेशनों का पुनर्विकास पूरा हो जाएगा, तो टोकन यूजर फीस (Token User Fee) में रियायत दे दी जाएगी. तब तक इस फीस का उपयोग रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों को बेहतर सुविधा देने के लिए किया जाएगा. उन्होंने कहा कि यह फीस काफी किफायती होगी, इससे यात्रियों पर ज्यादा बोझ नहीं पड़ेगा. रेलवे यात्रियों को विश्व स्तरीय सुविधा देने पर जोर दे रही है, इसलिए यह फीस लगाना जरूरी था.

जब वीके यादव से पूछा गया कि क्या यह फीस (Fee) सभी रेलवे स्टेशनों पर लगाई जाएगी,  तो इसके जवाब में उन्होंने कहा कि भारतीय रेलवे नेटवर्क पर करीब सात हजार स्टेशन हैं, लेकिन फीस सिर्फ उन्हीं 10-15 प्रतिशत स्टेशनों पर लागू की जाएगी जिन पर अगले पांच सालों में बहुत ज्यादा भीड़ जुटने का अनुमान है. आकलन के हिसाब से एसे संभावित स्टेशनों की संख्या सात सौ से एक हजार के बीच होगी.

धरे-धीरे हटाई जाएगी ‘टोकन यूजर फीस’- रेलवे मंत्रालय

इससे पहले रेलवे (Railway) अधिकारियों ने मीडिया से कहा था कि टोकन यूजर फीस सिर्फ विकसित स्टेशनों पर ही लगाई जाएगी. रेलवे मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि जब भुगतान किया जाएगा तो उसके फायदे फीस से कई ज्यादा मायने रखेंगे. उन्होंने कहा कि यह चरणबद्ध तरीके से किया जाएगा

केंद्रीय रेल मंत्री पीयुष गोयल ने बुधवार को लोकसभा में कहा था कि बेहतर यात्री (Passengers) सुविधाएं, सेवाएं और सुरक्षा देने और  रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास और नवीकरण के लिए सचिवों की एक कमेटी बनाई गई थी. कमेटी ने ही स्टेशनों के पुनर्विकास के लिए फीस लेने का सुझाव दिया है,  जिस पर विचार किया जा रहा है.

Related Posts