प्‍लाज्‍मा एयर प्‍योरिफायर, फुट ऑपरेटेड नल, कोरोना को मात देंगे रेलवे के ये नए कोच

इसमें कॉपर (Copper) कोटेड हैंडरेल और चिटकनियां हैं. इसकी वजह यह है कि कॉपर कुछ ही घंटों में वायरस (Virus) को नष्ट कर देता है. कॉपर में एंटी माइक्रोबियल (Antimicrobial) की खूबी होती है. यह वायरस के भीतर DNA और RNA को नष्ट कर देता है.
Indian Railways Copper Coated Coach, प्‍लाज्‍मा एयर प्‍योरिफायर, फुट ऑपरेटेड नल, कोरोना को मात देंगे रेलवे के ये नए कोच

भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने यात्रियों को कोरोनावायरस संक्रमण से बचाने के लिए कई उपाय किए हैं. रेलवे की कपूरथला बेस्ड रेल कोच फैक्ट्री ने एक ऐसा कोच तैयार किया है जो यात्रियों को कोरोना (Coronavirus) के खतरे से बचाएगा. रेलवे ने बताया है कि पोस्ट कोविड कोच (Post Covid Coach) को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि कोरोना संक्रमण से बचा जा सके.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

रेलवे के मुताबिक, इन कोचों में दी गई सुविधाओं का इस्तेमाल उन्हें हाथ से छुए बिना ही किया जा सकता है. कोच में कॉपर (Copper) कोटेड हैंडरेल और चिटकनी, प्लाज्मा एयर प्यूरिफिकेशन और टाइटेनियम डाइऑक्साइड कोटिंग है.

सभी चीजों को पैर से ही किया जा सकेगा ऑपरेट

रेल मंत्रालय के प्रवक्ता डी.जे. नरेन (D.J. Naren) के मुताबिक, “इस कोच में चार खूबियां हैं. इसमें ऐसी सुविधाएं दी गई हैं जिन्हें हाथ से छुए बिना ही इस्तेमाल किया जा सकता है. पानी के नल और सोप डिस्पेंसर को पैर से ऑपरेट किया जा सकता है. साथ ही लैवेटरी का दरवाजा, फ्लश वाल्व, लैवेटरी के दरवाजे की चिटकनी, वॉश बेसिन पर लगा नल और सोप डिस्पेंसर को पैर से ऑपरेट किया जा सकता है.”

कॉपर करता है वायरस के DNA को खत्म

उन्होंने कहा कि इसमें कॉपर कोटेड हैंडरेल और चिटकनियां हैं. इसकी वजह यह है कि कॉपर कुछ ही घंटों में वायरस को नष्ट कर देता है. कॉपर में एंटी माइक्रोबियल की खूबी होती है. यह वायरस के भीतर DNA और RNA को नष्ट कर देता है. उन्होंने बताया कि AC डस्ट में प्लाज्मा प्यूरीफायर का इस्तेमाल किया गया है. इससे कोच के अंदर की हवा को शुद्ध और वायरस फ्री किया जा सकेगा.

कोच के अंदर के सभी बैक्टीरिया का सफाया

प्रवक्ता ने बताया कि कोच में टाइटेनियम डाइऑक्साइड (Titanium Dioxide) की कोटिंग की जाएगी. यह फोटो एक्टिव मैटेरियल के रूप में काम करेगी और कोच के अंदर की नमी, वायरस, बैक्टीरिया आदि को मारने में सहायक होगी. इसका इस्तेमाल वाश बेशिन, सीट, गद्दे, टेबल, खिड़की और शीशे पर जमे बैक्टीरिया को खत्म करने में हो सकेगा. इस तरह की कोटिंग का असर 12 महीनों तक रह सकता है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts