बाल ठाकरे की 94वीं जयंती पर MNS का महाधिवेशन, राज ठाकरे ने नए झंडे के साथ किया बेटे को लॉन्च

शिवसेना छोड़ने के बाद राज ठाकरे ने पहली बार बाल ठाकरे की जयंती पर इतना बड़ा आयोजन किया है.

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे ने गुरुवार को शिवसेना के संस्थापक बाला साहेब ठाकरे की जयंति पर अपने बेटे अमित ठाकरे को औपचारिक तौर पर लॉन्च कर दिया. मुंबई के गोरेगांव में मनसे के पहले एकदिवसीय महाधिवेशन में राज ठाकरे ने पार्टी का नया झंडा भी लॉन्च किया है. यह झंडा पूरा भगवा है और इस पर शिवाजी महाराज के शासनकाल की मुद्रा (मुहर) छपी हुई है.

इस महाधिवेशन के दौरान स्टेज पर पहली बार पार्टी की तरफ से वीर सावरकर की तस्वीर भी लगाई गई. राज ठाकरे ने महाधिवेशन की शुरुआत सावरकर की तस्वीर पर माल्यार्पण के बाद की. इसके बाद उन्होंने अपने चाचा बाला साहेब ठाकरे को उनकी 94वीं जयंती पर याद किया. महाधिवेशन में महाराष्ट्र के सभी जिले से पहुंचे पार्टी कार्यकर्ता भगवा टोपी पहने थे. सबने जय भवानी, जय शिवाजी के नारे लगाए.

माना जा रहा है कि बीजेपी के साथ अपने गठबंधन को लेकर राज ठाकरे महाधिवेशन में एलान कर सकते हैं. इससे पहले उन्होंने अपने बेटे अमित ठाकरे को सक्रिय राजनीति में उतारने की घोषणा की. इसके लिए काफी समय से तैयारी की जा रही थी. पार्टी पदाधिकारी के तौर पर अमित पहले भी मनसे की बैठकों में शामिल होते रहते थे.

महाराष्ट्र में मनसे और शिवसेना का समीकरण

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में राज ठाकरे ने मनसे के 101 उम्मीदवार उतारे थे. इनमें महज एक सीट पर उन्हें जीत मिल पाई. बीते दिनों राज ठाकरे ने महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात की थी. इसके बाद कयास लगाए जा रहे थे कि राज ठाकरे बीजेपी के करीब हो सकते हैं. क्योंकि बीजेपी की पुरानी साथी शिवसेना के साथ नाता टूट चुका है. शिवसेना ने वर्षों पुरानी प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर राज्य में सरकार बना ली है.

इसके बाद हिंदू वोटों के लिए बाल ठाकरे की विरासत पर भी दावा के लिए उनकी जयंती पर महाधिवेशन करने की बात कही जा रही है. क्योंकि शिवसेना छोड़ने के बाद राज ठाकरे ने पहली बार बाल ठाकरे की जयंती पर इतना बड़ा आयोजन किया है. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे की तरह राज ठाकरे ने भी अपने बेटे अमित ठाकरे को राजनीति में उतार दिया है. इसके जरिए वह युवा वोटों को अपने साथ जोड़ना चाहते हैं.

MNS convention on Bal Thackerays birth anniversary, बाल ठाकरे की 94वीं जयंती पर MNS का महाधिवेशन, राज ठाकरे ने नए झंडे के साथ किया बेटे को लॉन्च

झंडे में शिवाजी की मुद्रा (मुहर) का अर्थ

मनसे के पांच रंग के झंडे को अब भगवा रंग दिया गया है. भगवा ध्वज पर शिवाजी की मुहर है और उस पर संस्कृत में श्लोक लिखा गया है- ‘प्रतिपच्चन्द्रलेखेव वर्धिष्णुर्विश्ववन्दिता, शाहसूनो: शिवस्यैषा मुद्रा भद्राय राजते.’ शिवाजी से पहले, मराठों की मुहरें फारसी भाषा में हुआ करती थी. शिवाजी ने इसे संस्कृत में बनाना शुरू करवाया. बाद में इसका ही अनुपालन उनके वंशजों और अधिकारियों ने किया. राज ठाकरे अब इसी राह पर चलते हुए नजर आ रहे हैं.

महाधिवेशन में लगाया गया पोस्टर भी पूरी तरह से भगवा रंग में है. पोस्टर पर नारा दिया गया ‘महाराष्ट्र धर्म के बारे में सोचो, हिंदू स्वराज्य का निर्धारण करो.’ मनसे नेता संदीप देशपांडे ने कहा कि भगवा पर किसी का कॉपीराइट नहीं है. पूरा महाराष्ट्र ही भगवा है. हम खुद भगवा हैं. झंडे को भगवा करने के फैसले से महाराष्ट्र में नई ऊर्जा आएगी और नए मोड़ और विकल्प खुलेंगे.

ये भी पढ़ें –

200 मुस्लिम नेताओं से मिले सीएम उद्धव ठाकरे, कहा- किसी को नहीं छोड़ना होगा देश

अयोध्या जाने की तैयारी में सीएम उद्धव ठाकरे, शिवसेना ने राहुल गांधी को भी दिया न्‍योता