राजीव गांधी हत्याकांड की दोषी नलिनी ने की खुदकुशी की कोशिश, वेल्लोर जेल में हालत खतरे से बाहर

कल (सोमवार) रात नलिनी श्रीहरन (Nalini Sriharan) ने जेल में फांसी लगाकर आत्महत्या करने की कोशिश की. वेल्लोर के जेल में पिछले 28 सालों से नलिनी उम्र कैद की सजा काट रही है.

  • Noor Mohammed
  • Publish Date - 11:11 am, Tue, 21 July 20
Nalini Sriharan

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) हत्याकांड मामले में दोषी नलिनी श्रीहरन (Nalini Sriharan) ने जेल में आत्महत्या करने की कोशिश की है. वेल्लोर के जेल में पिछले 28 सालों से नलिनी उम्र कैद की सजा काट रही है.

कल (सोमवार) रात नंलिनी ने जेल में फांसी लगाकर आत्महत्या करने की कोशिश की जिसे तुरंत जेल के अधिकारियों ने उसे बचा लिया. नलिनी के वकील ने कहा कि उनकी सेहत अभी ठीक है, खतरे से बाहर है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

बता दें कि नलिनी ने पिछले साल मद्रास हाई कोर्ट से इच्छा मृत्यु की मांग की थी, नलिनी ने 27 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस अमरेश्वर प्रताप साही को एक खत भेजा था, इसमें नलिनी ने जेल कर्मचारियों पर बुरा बर्ताव करने का आरोप लगाया था.

चुनावी सभा के दौरान बनाया था निशाना

राजीव गांधी की 21 मई, 1991 को तमिलनाडु के श्रीपेरंबदूर में एक चुनावी सभा के दौरान एक आत्मघाती महिला ने विस्फोट कर हत्या कर दी थी. बाद में इस महिला की पहचान धनु के रूप में हुई थी. इस विस्फोट में धनु सहित 14 लोग भी मारे गए थे. इस हत्याकांड के सिलसिले में मुरुगन, संथन, पेरारिवलन उर्फ अरिवु, जयकुमार, रॉबर्ट पायस, रविचंद्रन और नलिनी 27 साल से अधिक समय से जेल में बंद हैं.