कान खोलकर राजनाथ सिंह का ये बयान सुन ले पाकिस्‍तान, पूरे PAK में दौड़ जाएगी सिहरन

राजनाथ ने कहा कि न्‍यूक्लियर पावर के विषय में भारत ने बड़ी मजबूती से 'नो फर्स्‍ट यूज' के सिद्धांत का पालन किया है.

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को पोखरण जाकर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी. आज वाजपेयी की पहली पुण्‍यतिथि है. इस मौके पर उन्‍होंने भारत की न्‍यूक्लियर पॉलिसी को लेकर बड़ा बयान दिया है. अगर पाकिस्‍तान के लोगों ने राजनाथ का यह बयान सुना तो उनके मन में सिहरन दौड़ जाएगी.

राजनाथ ने कहा, “पोखरण वह इलाका है जिसने भारत को न्‍यूक्लियर पावर बनाने के अटल जी के संकल्‍प को देखा और ‘नो फर्स्‍ट यूज’ के सिद्धांत के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को भी. भारत ने बड़ी मजबूती से इस सिद्धांत का पालन किया है. भविष्‍य में क्‍या होता है, यह परिस्थितियों पर निर्भर करता है.”

रक्षामंत्री ने आगे कहा, “भारत का एक जिम्‍मेदार परमाणु शक्ति संपन्‍न राष्‍ट्र बनना देश के हर नागरिक के लिए राष्‍ट्रीय गौरव का विषय है. देश सदैव अटल जी का ऋणी रहेगा.”

बता दें कि पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री इमरान खान भारत की परमाणु शक्ति को लेकर सवाल उठा चुके हैं. 6 अगस्‍त को इमरान ने कहा था कि “पुलवामा जैसी घटनाएं फिर से हो सकती हैं.” खान ने अपने देश की संसद में कहा था, “मैं अनुमान लगा सकता हूं कि ऐसा होगा. वे हमारे ऊपर फिर से आरोप लगाने की कोशिश करेंगे. वे हम पर फिर से हमला कर सकते हैं और हम इसका फिर से जवाब देंगे.”

उन्होंने कहा, “तब क्या होगा? वे हम पर हमला करेंगे और हम जवाब देंगे और दोनों तरफ से युद्ध हो सकता है. लेकिन अगर हम अपने खून का अंतिम कतरे तक कोई युद्ध लड़ते हैं तो उस युद्ध में जीतेगा कौन? कोई भी नहीं जीतेगा. इसका पूरी दुनिया के लिए दुखद परिणाम होगा. यह परमाणु ब्लैकमेल नहीं है.”

ये भी पढ़ें

कश्‍मीर पर दाल नहीं गली, अब इस्लाम को बदनाम कर रहे इमरान खान

पाकिस्‍तान में इमरान खान से भी मशहूर हैं PM नरेंद्र मोदी, देखिए सबूत