जया बच्चन पर भड़के अमर सिंह, अमिताभ-अभिषेक-ऐश्वर्या किसी को नहीं बख्शा

राज्यसभा सदस्य अमर सिंह ने अपने फेसबुक अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया है. जिसमे उन्होंने जया बच्चन के राज्यसभा में दिए गए भाषण को लेकर बच्चन परिवार पर निशाना साधा है.

नई दिल्ली. अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले राज्यसभा सदस्य अमर सिंह ने एक बार फिर ऐसा बयान दिया है कि वह चर्चा में आ गए हैं. इस बार सिंह ने राज्यसभा सांसद जया बच्चन पर बोलते हुए बच्चन परिवार को लपेटे में लिया है. सिंह पहले बच्चन परिवार के करीबी हुआ करते थे और उनके माध्यम से ही जाया बच्चन समाजवादी पार्टी से राज्यसभा सदस्य नियुक्त हुई थीं. सिंह ने फेसबुक पर एक वीडियो शेयर करते हुए जया बच्चन के राज्यसभा में दिए गए भाषण पर बच्चन परिवार को घेरा है. उन्होंने इस वीडियो में अमिताभ, अभिषेक और ऐश्वर्या राय बच्चन पर भी टिप्पणी की है.

वीडियो में अमर सिंह ने जया बच्चन के राज्यसभा में दिए गए भाषण पर बोलते हुए कहा, “देश में एक अजीब माहौल है. कल राज्यसभा में मेरी पुरानी साथी जो अब साथी नहीं हैं. महिलाओं के बारे में बड़ी पीड़ा से बोल रही थीं. कह रही थीं कि तकनीकी आंदोलन को आप नहीं रोक सकते हैं. पोर्नोग्राफी या चलचित्रों के गंदे परिदृश्य अगर आप टीवी में देखते हैं तो रिमोट आपके हाथ में है. रिमोट दबा दीजिए सब ठीक हो जाएगा. ये भी उन्होंने कहा कि मेरी भी बेटी है.”

सिंह ने जया बच्चन के भाषण पर आगे बोलते हुए कहा, “तो कम से कम आप मां हैं, पत्नी हैं. मां और पत्नी के हाथ में सामाजिक रिमोट होता है. आप अपनी पति से क्यों नहीं कहतीं कि जुम्मा चुम्मा दे दे न करें. आप अपने पति से क्यों नहीं कहतीं कि बारिश में भीगती नायिका के साथ आज रपट जाए तो न करें. आप अपनी पुत्रवधू को क्यों नहीं कहतीं कि ऐ दिल है मुश्किल फिल्म में जो परिदृ्श्य उन्होंने किए हैं वो न करें. आप अपने बेटे अभिषेक को क्यों नहीं कहतीं कि यश चोपड़ा की धूम में नायिका लगभग नग्न हो जाती है. उन दृश्यों को देखकर युवाओं के मानस पटल पर क्या अच्छा प्रभाव पड़ेगा.”

अमर सिंह ने आगे कहा, “महिला होने के नाते आप भाषण दे रही हैं सदम में, तो अब गूंगी और बहरी रह गई हैं. पहले अपने घर में सुधार कीजिए. समाज में जो ये विकृति है उसमें पूरी सिनेमा जगत की भूमिका है. अगर रोमांस दिखान है तो देवदास में दिलीप कुमार, बिमल राय ने अपनी आंखों से प्यार दिखा दिया था. उसके  लिए नग्न-नग्न दृश्य, रपट जइयो और लिपट जइयो करने की जरूरत नहीं पड़ी थी.”

अमर सिंह ने अंत में कहा, “कपड़े पहनकर भी मधुबाला और दिलीप कुमार ने रोमांस किया है. इसके लिए कपड़े उतारने की जरूरत नहीं. इसके बाद भी आप भाषण देती हैं और गधे की तरह हम सदन में बैठकर सुनते हैं. क्योंकि आप को महिला होने का नाम है क्योंकि आप तथाकथित सदी के महानायक की पत्नी हैं.”

ये भी पढ़ें: ‘पाक मंत्री ने बताया 2022 तक स्‍पेस में जाएगा पाकिस्‍तानी, ये भूल गए कि उसे वापस भी आना है’

ये भी पढ़ें: Kargil Vijay Diwas: करगिल के दौरान सीमा पर गए थे मोदी, ट्वीट की तस्वीरें