विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने के मामले में BJP का युवा नेता गिरफ्तार, ये वीडियो बना सबूत

इस घटना से पहले राकेश का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. वीडियो में राकेश भगदड़ मचाने के लिए उकसाने की कोशिश करता नजर आ रहा है.
Vidyasagar, विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने के मामले में BJP का युवा नेता गिरफ्तार, ये वीडियो बना सबूत

कोलकाता: भारतीय जनता पार्टी के यूथ लीडर राकेश सिंह को समाज सुधारक ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने के मामले में गिरफ्तार किया गया है. विद्यासागर की मूर्ति लोकसभा चुनाव के दौरान कोलकाता में अमित शाह की रैली में तोड़ी गई थी. इस घटना से पहले राकेश का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. वीडियो में राकेश रैली के दौरान भगदड़ मचाने के लिए उकसाने की कोशिश करता नजर आ रहा है.

‘रोड शो में हो सकता है झमेला-झंझट’
वीडियो में राकेश कहता है कि ‘कल के रोड शो में झमेला-झंझट हो सकता है. जो सदस्य नहीं आएंगे ,उनको ह्वाट्सऐप ग्रुप से बाहर निकाल देंगे. इस ग्रुप में जितने भी लोग हैं, कल सबको आना है. कल अमित शाह का रोड शो है. आठ फुट का डंडा लेकर पुलिस और टीएमसी के गुड़ों से हमें लड़ना है.

टूटी मूर्ति को बदलेगी बंगाल सरकार
दूसरी तरफ, पश्चिम बंगाल सरकार ने 11 जून को विद्यासागर कॉलेज में लगी ईश्वर चंद्र विद्यासागर की टूटी हुई मूर्ति को बदलने का फैसला किया है. बंगाल सरकार ने कॉलेज में प्रतीकात्मक इशारे के रूप में इस मूर्ति को बदलने का फैसला किया है.

राज्य सरकार ने आने वाले महीनों में विद्यासागर की शताब्दी को भव्य तरीके से मनाने की योजना तैयार की है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी समारोह से संबंधित सभी प्रमुख कार्यक्रमों में भाग लेंगी, जिसमें अगले सप्ताह होने वाले विदाई समारोह भी शामिल हैं.

PM मोदी ने भी किया है वादा
ममता ने कहा, “हम 11 जून को प्रतीकात्मक इशारे के रूप में ईश्वर चंद्र विद्यासागर की बर्बरता से तोड़ी गई प्रतिमा को बदलेंगे.” संयोग से, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी 19वीं सदी के सुधारक विद्यासागर की ‘भव्य प्रतिमा’ को उसी स्थान पर स्थापित करने का वादा किया था, जहां शहर में उसे तोड़ा गया था.

भाजपा अध्यक्ष के रोड शो के दौरान विद्यासागर की प्रतिमा टूट जाने के बाद इसे चुनावी मुद्दा बना दिया गया था. भाजपा ने प्रतिमा को तोड़ने के लिए तृणमूल के कार्यकर्ताओं पर आरोप लगाया था, तो वहीं बनर्जी ने इस मुद्दे पर विरोध दर्ज कराने के लिए एक विशाल रैली आयोजित की थी, जिसमें ममता ने आरोप लगाया था कि यह भाजपा के समर्थकों की करतूत है.

ये भी पढ़ें-

कोर्ट में पेश होने नहीं गईं प्रज्ञा ठाकुर, भोपाल में महाराणा प्रताप की प्रतिमा पर माला चढ़ाने पहुंची

सरकार ने आधा-अधूरा छोड़ दिया था, इस आदमी ने जिंदगी भर की बचत से बनवा डाला ब्रिज

अलीगढ़ में 5 हजार रुपये की खातिर ढाई साल की बच्‍ची को मार दिया, दोनों आरोपी गिरफ्तार

Related Posts