बड़े महंगे वकील रहे राम जेठमलानी, जानिए एक केस के लिए लेते थे कितनी फीस

राम जेठमलानी की गिनती ऐसे वकीलों में होती थी जिनके हाथ में केस लेने का करीब-करीब मतलब जीतना ही होता था.

वरिष्ठ वकील और पूर्व केंद्रीय कानून मंत्री राम जेठमलानी का रविवार को नई दिल्ली स्थित उनके आवास पर निधन हो गया. जेठमलानी 95 साल के थे. उन्होंने अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार में शहरी विकास मंत्री के रूप में भी काम किया था. 2010 में उन्हें सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन का अध्यक्ष चुना गया था.

राम जेठमलानी की गिनती ऐसे वकीलों में होती थी जिनके हाथ में केस लेने का करीब-करीब मतलब जीतना ही होता था. कह सकते हैं कि हर कोई उन्हें ही अपना वकील बनाना चाहता था. जेठमलानी की लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने एक बार एक पेशी में एक करोड़ रुपये से भी ज्यादा तक चार्ज किया था.

एक केस के लिए इतना था चार्ज
राम जेठमलानी को देश का सबसे महंगा वकील कहा जाता था. जेठमलानी एक केस के लिए तकरीबन कम से कम 25 लाख रुपये चार्ज करते थे. वो अपनी हर एक केस को बहुत गंभीरता से लेते थे. केस जीतने के लिए वो बहुत मेहनत करते थे. इसे देखते हुए क्लाइंट उन्हें कोई भी रकम चुकाने को तैयार हो जाते थे.

अदालत में सुनवाई के लिए अलग से चार्ज
जानकार बताते हैं कि जेठमलानी हर केस की हियरिंग (सुनवाई) के लिए भी अलग से चार्ज करते थे. वो अदालत में एक सुनवाई के लिए करीब 10 से 20 लाख रुपये फीस लेते थे. यही वजह है कि हर किसी के लिए जेठमलानी को अपना वकील बना पाना संभव नहीं था.

जेठमलानी के लिए कहा जाता है कि वो कभी भी किसी भी मुद्दे पर अपनी बात रखने के लिए हिककिचाते नहीं थे. उनके मन में जो भी होता था, वो बोल देते थे. साथ ही जेठमलानी ऐसे शख्स थे जो हर जरूरतमंद के लिए खड़े होते थे.

ये भी पढ़ें-

इंदिरा गांधी, हाजी मस्तान से लेकर बाबा रामदेव तक, राम जेठमलानी ने लड़े ये 10 हाई प्रोफाइल केस

वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी का 95 साल की उम्र में निधन, लंबे समय से थे बीमार

RJD नेता का बड़ा बयान- नीतीश छोड़ दें NDA तो हम उन्हें बना सकते हैं महागठबंधन का चेहरा