“योग से बचकानी मानसिकता से निपटने में मदद मिलेगी,” राम माधव ने राहुल गांधी पर कसा तंज

राम माधव ने राहुल गांधी पर हमला करते हुए कहा, "उन्हें अपना मोबाइल फोन चाहिए था. ताकि मैसेज देख सकें या फिर वीडियो गेम्स खेल सकें. यह बचकानी हरकत अस्थिर दिमाग को दिखाती है."
राम माधव, “योग से बचकानी मानसिकता से निपटने में मदद मिलेगी,” राम माधव ने राहुल गांधी पर कसा तंज

तिरूवनंतपुरम: भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के महासचिव राम माधव ने कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज कसते हुए शुक्रवार को कहा, “संसद में ‘बच्चे’ भी हैं और योग उनकी ‘बचकानी मानसिकता’ से निपटने में मदद कर सकता है.” उनके इस वक्तव्य का निशाना राहुल गांधी के गुरूवार को राष्ट्रपति के अभिभाषण के समय मोबाइल ब्राउज करने के बाद आलोचनाओं के घेरे में आने की ओर था.

राम माधव ने तिरूवनंतपुरम में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर बीजेपी की तरफ से आयोजित एक कार्यक्रम में पहुंचे थे जहां उन्होंने राहुल गांधी को निशाना बनाते हुए बयान दिए. बीजेपी महासचिव की यह टिप्पणी, योग गुरू रामदेव के उस बयान के बाद आई है जिसमें उन्होंने कुछ दिनों पहले कहा था कि जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गांधी निजी रूप से योग करते थे. लेकिन उनकी संतति ने ऐसा नहीं किया और इसलिए आज वे सत्ता से बाहर हैं.

बचकानी हरकत अस्थिर दिमाग को दर्शाती है

माधव ने कार्यक्रम में शामिल होने वाले स्कूली बच्चों सहित कई लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि वह (राहुल गांधी) अपने राष्ट्रपति के अभिभाषण तक पर भी ध्यान केंद्रित नहीं कर सकते. उन्हें (राहुल गांधी) अपना मोबाइल फोन चाहिए था. ताकि मैसेज देख सकें या फिर वीडियो गेम्स खेल सकें. यह बचकानी हरकत अस्थिर दिमाग को दिखाती है. अगर इस पर काबू करना है तो आपको योग करने की आवश्यकता है.

गुरूवार को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के संसद के संयुक्त सत्र के संबोधन के समय राहुल गांधी अपना मोबाइल कर रहे थे. जिसके बाद विवाद खड़ा हो गया. कांग्रेस ने बीजेपी नेताओं की इस प्रकरण पर की गई बयानबाजी पर आपत्ति जताते हुए कहा कि सत्तारूढ़ दल को ऐसी टिप्पणियां नहीं करनी चाहिए.

ये भी पढ़ें: जब-जब विदेश घूमने जाते हैं पार्टी के मुखिया, तब-तब क्यों होती है TDP में टूट

Related Posts