जम्‍मू-कश्‍मीर में फिर से करना होगा विधानसभा सीटों का परिसीमन, बोले राम माधव

जम्मू-कश्मीर में विधानसभा की कुल 114 सीटें होंगी और इसमें से 24 सीटें पाक अधिकृत कश्‍मीर के लिए खाली रहेंगी.

नई दिल्ली: बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर में विधानसभा की सीटों का परिसीमन फिर से करना होगा. उन्‍होंने कहा कि विधानसभा की कुल 114 सीटें होंगी और इसमें से 24 सीटें पाक अधिकृत कश्‍मीर के लिए खाली रहेंगी. बाकी बची 90 सीटों को जम्‍मू-कश्‍मीर के लिए रखा जाएगा.

‘कश्‍मीरी पंड‍ितों के बारे में जानते हैं जो…’
राम माधव ने कहा, “कई ऐसे समूह हैं जो मूलभूत मानवाधिकार से वंचित हैं. हम कश्‍मीरी पंड‍ितों के बारे में जानते हैं जो अपने ही देश में शरणार्थी की जिंदगी जीने को मजबूर हैं. उनके अधिकारों की फिर से व्‍यवस्‍था की जाएगी.”

बीजेपी नेता ने कहा कि पश्चिमी पाकिस्‍तान के शरणार्थी भी यहां पर हैं. उनके अधिकारों को भी फिर से दिया जाएगा. इससे पहले गृहमंत्री अमित शाह ने भी संसद में कहा था कि ‘जब मैं जम्‍मू-कश्‍मीर कहता हूं तो मैं उसमें पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर और अक्‍साई चिन भी शामिल हैं.’

विधानसभा सीटों में इस तरह हुआ बदलाव
मालूम हो कि शुरू में जम्‍मू-कश्‍मीर विधानसभा की 100 सीटें थीं. साल 1988 में इसे बढ़ाकर 111 कर दिया गया. इसमें से 24 सीटें पीओके लिए सुरक्षित रखी गई थीं. अब तक राज्‍य विधानसभा में 87 विधायक थे. कश्‍मीर घाटी में 46, जम्‍मू क्षेत्र में 37 और लद्दाख के लिए 4 सीटें थीं.

उल्लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने की घोषणा के बाद राम माधव ने कहा था कि आखिरकार भारत में राज्य के पूर्ण विलय की डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की इच्छाओं का सम्मान हुआ. देश जम्मू-कश्मीर के पूर्ण विलय की लंबे समय से मांग कर रहा था.

ये भी पढ़ें-

15 अगस्त को मिला था ‘बेस्ट कॉन्स्टेबल’ अवार्ड, एक दिन बाद ही घूस लेते पकड़ा गया पुलिसकर्मी

UAPA में हुए बदलाव को SC में चुनौती, याचिकाकर्ता ने कहा- मूल अधिकारों के खिलाफ है ये कानून

बीजेपी में शामिल हुए AAP के बागी विधायक कपिल मिश्रा, बोले- खिलते कमल से आशा है