हनीप्रीत की याद में फूट-फूटकर रोया राम रहीम, पूछा तो दिया ये जवाब

हनीप्रीत अंबाला सेंट्रल जेल में बंद है. उस पर पंचकुला में हिंसा भड़काने का आरोप है. हनीप्रीत और राम रहीम ने कई फिल्में भी बनाई थी. डेरा के कुछ लोगों के मुताबिक हनीप्रीत और राम रहीम के संबंध भाई - बहन वाले नहीं थे.

डेरा के भीतर साध्वियों के साथ रेप और पत्रकार रामचंद्र प्रजापति के मर्डर केस में उम्र कैद की सजा काट रहे राम रहीम को हनीप्रीत की याद सता रही है. राम रहीम रोहतक जेल में बंद है. जेलकर्मियों के मुताबिक 15 अगस्त को राम रहीम दिन भर रोता रहा. जब साथी कैदियों ने पूछा तो राम रहीम ने कहा कि उसे हनीप्रीत की याद सता रही है.

राम रहीम ने कहा कि रक्षा बंधन के दिन हनीप्रीत उसे राखी बांधा करती थी लेकिन इस बार ऐसा नहीं हो सका. हनीप्रीत अंबाला सेंट्रल जेल में बंद है. उस पर पंचकुला में हिंसा भड़काने का आरोप है. हनीप्रीत और राम रहीम ने कई फिल्में भी बनाई थी. डेरा के कुछ लोगों के मुताबिक हनीप्रीत और राम रहीम के संबंध भाई – बहन वाले नहीं थे.

जेल में बंद रहते हुए भी राम रहीम से मिलने डेरा समर्थक आते रहते हैं. हाल ही में राम रहीम ने पेरोल के लिए अप्लाई किया था जिसे ठुकरा दिया गया. उसके डेरे पर हुई पुलिसिया कार्रवाई में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए थे. संदिग्ध कमरों और सुरंगों वाले उसके डेरे में कई तरह के गैरकानूनी काम होने के आरोप लगाए गए थे.

राखी वाली चिट्ठियां

भले ही राम रहीम की मुलाकात हनीप्रीत से न हो पा रही हो लेकिन उसे रक्षाबंधन की शुभकामनाओं वाली चिट्ठियां खूब मिल रही है. हजारों की संख्या में आ रही चिट्ठियों से डाक विभाग भी बुरी तरह परेशान है, जिसे इन चिट्ठियों को बोरों में ठूंसकर रोजाना सुनारियां जेल पहुंचाना पड़ रहा है.

रोजाना 2000 के आसपास चिट्टियां सुनारिया जेल में बंद सिरसा डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के नाम पर आ रही हैं, जिनको छांटने और कंप्यूटर में उनकी इंट्री करने में इन लोगों के पसीने छूट रहे हैं. करीब सप्ताह भर से यह सिलसिला चल रहा है. ऐसा नहीं है कि भारत के विभिन्न हिस्सों से ही ये चिट्टियां सुनारियां के इस डाक खाने में पहुंच रही हों, बल्कि यहां तो विदेशों तक से बलात्कारी और हत्या के दोषी बाबा गुरमीत राम रहीम को उनके अनुयायियों द्वारा बधाई संदेश भेजे जा रहे हैं.