भगोड़े नित्‍यानंद ने अलग देश ही बना डाला, पासपोर्ट-सरकार सब तैयार, बस UN की हां का इंतजार

नित्यानंद ने इस नए देश की वेबसाइट भी बनाई है. इसमें दावा किया गया है कि कैलासा (Kailaasa) बिना सीमाओं का देश है जिसे दुनियाभर से बेदखल हिंदुओं ने बसाया है.

दुष्कर्म और अपहरण के आरोपों में फरार चल रहे दक्षिण भारत के स्वयंभू बाबा नित्यानंद के बारे में चौंकाने वाली खबर सामने आई है. नित्यानंद (Nithyananda) ने दक्षिण अमेरिकी महाद्वीप में त्रिनिदाद और टोबैगो के पास इक्वाडोर स्थित एक द्वीप पर अपना नया देश बसा लिया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नित्यानंद (Nithyananda) ने आईलैंड का नाम कैलासा (Kailaasa) रखा है. नित्यानंद ने इस नए देश की वेबसाइट भी बनाई है. इस वेबसाइट पर दावा किया गया है- कैलासा (Kailaasa) बिना सीमाओं का देश है जिसे दुनियाभर से बेदखल हिंदुओं ने बसाया है.

वेबसाइट पर कैलासा (Kailaasa) को महानतम हिंदू राष्ट्र बताया गया है. कैलासा की कानूनी टीम संयुक्त राष्ट्र के रूप में मान्यता देने की याचिका पर काम कर रही है.

वहीं, कुछ दिन पहले नित्यानंद (Nithyananda) के विदेश चले जाने के सवाल पर विदेश मंत्रालय ने कहा था उन्हें ऐसी कोई जानकारी नहीं है. गुजरात पुलिस ने इस बात की पुष्टि कर चुकी है कि नित्यानंद फरार है और भारत में नहीं है.

जानें इस देश के बारें में

  • इसमें किसी एक देश की तरह तमाम सरकारी पदों पर लोग नियुक्त किए गए हैं.
  • प्रधानमंत्री, कैबिनेट मंत्री, सेना प्रमुख जैसे पदों को शामिल किया गया है.
  • नित्यानंद ने अपने एक करीबी अनुयायी मां को प्रधानमंत्री नियुक्त किया है.
  • वेबसाइट पर संविधान और सरकारी ढांचे की जानकारी दी गई है. कई सारे मंत्रालय, विभाग और एजेंसी बनाने का दावा है.
  • नित्यानंद ने अपने देश का अलग झंडा भी बनाया है.
  • राष्ट्रीय पशु, राष्ट्रीय पक्षी, राष्ट्रीय फूल और राष्ट्रीय पेड़ जैसी चीजों का ऐलान भी किया है.
  • अगर कोई व्यक्ति यहां का नागरिक बनना चाहता है तो डोनेशन देकर वहां रह सकता है.
  • वेबसाइट में बताया गया है कि कैलासा एक गैर राजनैतिक देश है और मानवता उसका मकसद है.
  • इस देश का अपना एक ‘पासपोर्ट’ है और नित्यानंद ने पहले ही इसका एक ऑनलाइन सैंपल भी डाला है.
  • दो रंग में अलग-अलग पासपोर्ट बनाए गए हैं. एक सुनहरे रंग का और दूसरा लाल रंग का.
  • झंडे का रंग मैरून है. इस पर दो चिन्ह दर्शाए गए हैं. एक सिंहासन पर नित्यानंद और दूसरे पर एक नंदी है.

गुजरात पुलिस ने बीती 21 नवंबर को बताया था कि स्वयंभू बाबा नित्यानंद (Nithyananda) देश छोड़कर भाग गया है. नित्यानंद के खिलाफ फौजदारी मामला दर्ज है. मामले में उसके खिलाफ सबूत जुटाने के लिए पुलिस ने उसकी दो महिला अनुयायियों को भी गिरफ्तार किया था.

गुजरात पुलिस नित्यानंद (Nithyananda) के आश्रम से लापता हुई एक महिला के मामले में भी जांच कर रही है. महिला के पिता जनार्दन शर्मा ने शिकायत दर्ज कराई थी. पुलिस ने 20 नवंबर को स्वयंभू बाबा स्वामी नित्यानंद के खिलाफ मामला दर्ज किया था.

नित्यानंद (Nithyananda) पर अहमदाबाद में अपना आश्रम योगिनी सर्वज्ञपीठम चलाने के लिए बच्चों को कथित तौर पर अगवा करने और उन्हें बंधक बनाकर अनुयायियों से चंदा जुटाने के आरोप हैं.

ये भी पढ़ें-

नित्यानंद के आश्रम से लापता लड़की ने रखी शर्त,कहा- योगिनियों को छोड़ोगे तभी लौटूंगी भारत