राष्ट्रपति भवन: स्वतंत्रता दिवस ‘एट होम’ समारोह में होंगे 90 से कम गेस्ट, Covid-19 की वजह से फैसला

कैबिनेट मंत्रियों को भी इस कार्यक्रम में शामिल होने का मौका मिलने पर संशय है. पीएम मोदी के अलावा सुरक्षा पर कैबिनेट समिति के सदस्य (डिफेंस, होम, वित्त और एक्सटर्नल अफेयर्स) और कुछ वरिष्ठ कैबिनेट मंत्रियों को बुलाया जा सकता है.
Rashtrapati Bhavan independence day At home program guest list cut to 90, राष्ट्रपति भवन: स्वतंत्रता दिवस ‘एट होम’ समारोह में होंगे 90 से कम गेस्ट, Covid-19 की वजह से फैसला

कोरोनावायरस (Coronavirus) संकट के चलते राष्ट्रपति भवन में होने वाले 15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस) एटहोम कार्यक्रम को लेकर कई पाबंदियां लगाई गई हैं. इस दौरान जीवनसाथियों को नहीं लाने, न ही लाइव फूड काउन्टर्स और न वीआईपी से इन्टरेक्शन की अनुमति होगी. इस कार्यक्रम में मेहमानों की अधिकतम संख्या को 90 से नीचे रखा गया है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

सामान्य दिनों में इस कार्यक्रम में करीब 1500 गेस्ट शामिल होते हैं. स्वतंत्रता दिवस का ये एट होम कार्यक्रम की ड्यूरेशन को भी घटाया गया है. दो से ढाई घंटे तक चलने वाले इस कार्यक्रम के समय को भी घटाकर 1 घंटे किया गया है.

बड़ी संख्या में नहीं बुलाए जा सकते गेस्ट

हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक राष्ट्रपति भवन (President House) के एक अधिकारी के मुताबिक कार्यक्रम में कम से कम लोगों की सहभागिता का लक्ष्य रखा गया है. हमने मेहमानों की सीमित संख्या का चयन किया है क्योंकि इस दौरान बड़ी संख्या में गेस्ट को नहीं बुलाया जा सकता. इस कार्यक्रम में राज्य के मंत्रियों को बुलाए जाने की संभावना नहीं है.

कैबिनेट मंत्रियों के शामिल होने पर भी संशय

साथ ही कैबिनेट मंत्रियों को भी इस कार्यक्रम में शामिल होने का मौका मिलने पर भी संशय है. पीएम मोदी के अलावा सुरक्षा पर कैबिनेट समिति के सदस्य (डिफेंस, होम, वित्त और एक्सटर्नल अफेयर्स) और कुछ वरिष्ठ कैबिनेट मंत्रियों को बुलाया जा सकता है. अधिकारियों की लिस्ट को भी 10 से ज़्यादा नहीं बढ़ाया जाएगा.

न्यायपालिका से इन लोगों को बुलाया जाएगा

इसी तरह न्यायपालिका के प्रतिनिधि भारत के मुख्य न्यायाधीश शरद ए बोबड़े, दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश डीएन पेटलैंड, सुप्रीम कोर्ट के कुछ वरिष्ठ मुख्य न्यायाधीशों को ही कार्यक्रम में बुलाए जाने की संभावना है. नौकरशाहों की लिस्ट में भी केवल कैबिनेट सचिव और कुछ वरिष्ठ सचिवों को आमंत्रित किए जाने की संभावना है. वहीं 10 से कम राजनयिकों को भी बुलाया जाएगा.

इस मामले पर फंस रहा है पेंच

गेस्ट लिस्ट को लगभग अंतिम रूप दिया जा चुका है, लेकिन फूड काउंटर्स परेशानी की वजह हैं. खाना कैसे परोसा जाए इस पर विचार हो रहा है. लाइव फूड काउंटर्स जोखिम भरे हो सकते हैं, ऐसे में हर मेहमान की टेबल पर खाने के पैकेट और पानी की बोतल रखने की योजना बनाई जा रही है. केंद्रीय गृहमंत्रालय पर इस कार्यक्रम की जिम्मेदारी है, ऐसे में कुछ डॉक्टर्स को भी बुलाए जाने की संभावना है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts