विपक्ष के हंगामे पर भड़के रविशंकर प्रसाद, बोले- हरिवंश जी के साथ हुए व्यवहार का बिहार की जनता देगी जवाब

विपक्ष के इस दावे पर कि रविवार को मतदान के बिना ही बिल पारित किए गए थे, प्रसाद ने कहा कि उपसभापति ने वेल में खड़े संसद के सदस्यों से 13 बार अपनी सीटों पर वापस जाने के लिए कहा था.

  • TV9 Digital
  • Publish Date - 8:10 pm, Mon, 21 September 20

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राज्यसभा में कृषि बिल पर चर्चा के दौरान हंगामा करने और सभापति द्वारा निलंबन के बाद भी सदन से बाहर न जाने पर विपक्षी नेताओं की काफी आलोचना की है.

विपक्ष के इस दावे पर कि रविवार को मतदान के बिना ही बिल पारित किए गए थे, प्रसाद ने कहा कि उपसभापति ने वेल में खड़े संसद के सदस्यों से 13 बार अपनी सीटों पर वापस जाने के लिए कहा था. अब जब आप अपनी सीटों पर ही नहीं जाएंगे, तो वोटिंग कैसे होगी?

उपसभापति पर शारीरिक रूप से हमला किए जाने की संभावना की ओर इशारा करते हुए, केंद्रीय मंत्री ने कहा, “कल संसद के इतिहास में एक शर्मनाक दिन था. माइक तोड़ा गया, पार्टी के एक नेता ने रूल बुक तक फाड़ दी.”

“बिहार की जनता देगी जवाब”

रविशंकर प्रसाद ने आगे कहा, “हरिवंश जी सिर्फ राज्यसभा उपसभापति नहीं हैं, बहुत बड़े विद्वान, लेखक और संपादक हैं. भारत का नाम उन्होंने दुनिया में स्थापित किया है, वो बिहार से आते हैं, हमें बहुत दुख हुआ है, जिस तरह से उनके साथ आचरण हुआ है. बिहार की जनता इसका जवाब देगी.”

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार के पास कल स्पष्ट बहुमत था, 110 उपस्थित सदस्य कृषि बिलों का समर्थन कर रहे थे और केवल 72 ही विरोध कर रहे थे. हमारे पास निर्णायक बहुमत था. उनका एजेंडा सदन में विधेयकों को पारित होने से रोकने का था.

मालूम हो कि राज्यसभा में विपक्ष के लगातार विरोध के बीच कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) विधेयक 2020 और कृषक (सशक्तिकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक 2020 रविवार को ध्वनिमत से पारित हो गया था.

आठ विपक्षी सांसद सस्पेंड

वहीं बिल पर चर्चा के दौरान राज्यसभा में हंगामा इतना बढ़ गया था कि विपक्ष के राज्यसभा सांसद उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह की कुर्सी के बगल तक आ गए. हंगामे के दौरान टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन उपसभापति के पास जाकर संसद की रूल बुक को फाड़ दिया और माइक को छीनने की कोशिश भी की थी. वहीं AAP सांसद संजय सिंह ने माइक तोड़ दिया था.

इस मामले पर सोमवार को बीजेपी सांसदों की शिकायत के बाद सभापति ने डेरेक ओ ब्रायन, संजय सिंह, राजू सातव, के के रागेश, रिपुन बोरा, डोला सेन, नसीर हुसैन और एलमरन करीम को सभापति वैंकेया नायडू ने एक हफ्ते के लिए राज्यसभा से सस्पेंड कर दिया.