RBI ने लगातार पांचवीं बार की कटौती, रेपो रेट नौ साल के सबसे निचले स्‍तर पर

RBI पैनल ने लगातार पांचवी बार केंद्रीय बैंक की दरों में कटौती की है. इस वक्‍त रेपो रेट की दर यानी 5.15% मार्च 2010 के बाद सबसे कम है.
रेपो रेट, RBI ने लगातार पांचवीं बार की कटौती, रेपो रेट नौ साल के सबसे निचले स्‍तर पर

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने रेपो रेट में 25 बेसिस पॉइंट्स की कमी की है. नया रेपो रेट 5.25 प्रतिशत होगा. RBI की मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी (MPC) ने रिवर्स रेपो रेट को 4.90 फीसदी तथा बैंक रेट को 5.40% रखने का फैसला किया है.

केंद्रीय बैंक ने साल 2019-20 के लिए ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्‍ट (GDP) वृद्धि-दर के अनुमान को 6.9% से घटाकर 6.1% कर दिया है. 2021-21 के लिए GDP के 7.2% की दर से बढ़ने का अनुमान RBI की MPC ने लगाया है.

गवर्नर शक्तिकांत दास की अगुवाई वाली MPC ने एकमत से रेपो रेट घटाने का फैसला किया. RBI पैनल ने लगातार पांचवी बार केंद्रीय बैंक की दरों में कटौती की है. इस वक्‍त रेपो रेट की दर यानी 5.15% मार्च 2010 के बाद सबसे कम है. RBI के इस फैसले का असर आपकी EMI पर पड़ेगा. अभी आप जो ब्‍याज चुकाते हैं, उसमें कमी आएगी और आपकी EMI भी कम हो जाएगी.

MPC की प्रेस कॉन्‍फ्रेंस से पहले घरेलू शेयर बाजार की शुरुआत तेजी के साथ हुई और सेंसेक्स करीब 300 अंकों की बढ़त के साथ खुला. निफ्टी ने भी 74 अंकों की बढ़त के साथ कारोबार की शुरुआत की. विदेशी बाजारों से मिले सकरात्मक संकेतों से भारतीय शेयर बाजार में भी तेजी का रुझान दिखा. हालांकि डॉलर के मुकाबले रुपया मामूली बढ़त के साथ 70.88 पर खुला.

बीते अगस्त में MPC ने रेपो रेट में 35 बेस‍िस प्‍वॉइंट्स की कटौती की थी. देश में महंगाई दर तकरीबन स्थिर रही है जबकि आर्थिक ब्याज दर घटकर छह साल के निचले स्तर पर आ गई है.

ये भी पढ़ें

RBI ने PMC ग्राहकों को फिर दी राहत, अब निकाल सकेंगे 25,000 रुपये

‘कोई सरकारी बैंक नहीं हो रहा बंद’, अफवाहों पर RBI ने लगाया फुलस्‍टॉप

Related Posts