RBI ने PMC पर लगाया 6 महीने का प्रतिबंध, जानें कैसे 35 साल पुराने बैंक को ले डूबा एक खाता

बैंक ने आरबीआई की गाइडलाइंस के बावजूद दिवालिया हो चुकी कंपनी पर बकाये लोन को एनपीए में नहीं डाला था.

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक पर प्रतिबंध लगा दिया है. बैंक अब अपने किसी ग्राहक को नया लोन जारी नहीं कर सकता. साथ ही आरबीआई ने ग्राहकों के लिए भी एक दिन में सिर्फ एक हजार रुपये निकालने की ही सीमा निर्धारित कर दी है. इससे कस्टमर्स भी परेशान हैं.

RBI ने नहीं बताई प्रतिबंध की वजह
आरबीआई ने बैंक पर 6 महीने का प्रतिबंध क्यों लगाया है? इसकी कोई वजह नहीं बताई है. मुंबई मिरर ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि बैंक का रियल एस्टेट फर्म हाउजिंग डिवेलपमेंट ऐंड इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड पर 2,500 करोड़ रुपये का बकाया लोन इसकी वजह है.

आरबीआई की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि ‘रिजर्व बैंक की तरफ से दिए गए निर्देश का मतलब इस बैंक का लाइसेंस निरस्त होना नहीं माना चाहिए. यह बैंक अगले नोटिस तक प्रतिबंधों के साथ अपना कामकाज जारी रखेगा.’

रिपोर्ट के मुताबिक, बैंक ने दिवालिया हो चुकी कंपनी पर बकाये इस लोन को आरबीआई की गाइडलाइंस के बावजूद एनपीए में नहीं डाला था. कंपनी के लोन चुकाने में लगातार फेल होते रहने के बावजूद ऐसा किया गया.

2,500 करोड़ का बकाया है लोन
सूत्र के हवाले से कहा गया है कि ‘आरबीआई गाइडलाइंस के मुताबिक ऐसे मामलों में बैंक को लॉस का जिक्र करना चाहिए. पीएमसी बैंक का कैश रिजर्व ही कुल 1,000 करोड़ रुपये का है, जबकि कंपनी पर उसका 2,500 करोड़ रुपये का लोन बकाया है.’

दरअसल, अगर आरबीआई को लगता कि कंपनी को दिया गया लोन पूरी तरह से लॉस नहीं है तो फिर बैंक को 10 फीसदी रकम को एनपीए में डालना पड़ता. इसके लिए उसके पास संसाधन हैं. लेकिन केंद्रीय बैंक को लगता है कि एचडीआईएल को दिया गया पूरा लोन ही एनपीए है. इसके बाद उसने बैंक पर प्रतिबंध लगा दिए.’

ये भी पढ़ें-

लुंगी-चप्पल पहनकर गाड़ी चलाने पर कटेगा चालान? नितिन गडकरी ने अफवाहों से किया सावधान

राम मंदिर पर CJI ने किया साफ- 18 अक्टूबर तक हर हाल में पूरी कर ली जाएगी सुनवाई

Exclusive: PAK की UN को चिट्ठी- घर चलाने के लिए हाफिज सईद को पैसे निकालने की मिले इजाजत