दिल्ली की असली तस्वीर : हिंदू घरों में मुस्लिम परिवारों को पनाह, मुसलमानों ने मंदिर को बचाया

मुसलमानों ने मंदिर को बचाया और हिंदुओं ने मुस्लिम परिवारों को अपने घर में पनाह दी. लोगों ने गंगा जमुनी तहजीब की मिसाल पेश की.
sheltering Muslim families in Hindu homes, दिल्ली की असली तस्वीर : हिंदू घरों में मुस्लिम परिवारों को पनाह, मुसलमानों ने मंदिर को बचाया


दिल्ली में तीन दिनों की हिंसा के बाद बुधवार को हुईं छिटपुट घटनाओं को छोड़ दें तो कुल मिलाकर माहौल शांत रहा. तनावपूर्ण शांति के बीच लोग राहत महसूस कर रहे हैं. जहां कुछ उपद्रवी दिल्ली को जलाने की कोशिश में लगे थे, वहीं गंगा जमुनी तहजीब की मिसाल भी गालिब की इस दिल्ली में दिखी.

हिंदुओं ने खोले मुस्लिमों के लिए दरवाजे

मुसलमानों ने मंदिर को बचाया और हिंदुओं ने मुस्लिम परिवारों को अपने घर में पनाह दी. लोगों ने गंगा जमुनी तहजीब की मिसाल पेश की. इसकी एक बानगी पूर्वी दिल्ली के खजूरी खास इलाके में नजर आई. यहां मंगलवार को उन्मादी, हिंसक और अराजक भीड़ इस मंदिर को तहस-नहस करने के इरादे से आई थी.

मंदिर को बचाने आगे आईं मुस्लिम महिलाएं

ईश्वर और अल्लाह की पाक भूमि पर दंगाई पांव ना रख सके. इसके लिए यहां की मुस्लिम महिलाओं ने मोर्चा संभाला और दंगाइयों के नापाक इरादों को नाकाम कर दिया. ताकि विश्वास कायम रहे और इलाके के अमन को उपद्रवी आग ना लगा सके.

मुस्लिम महिलाओं की मर्दानगी देखकर स्थानीय पुरुष भी आगे आए और दिल्ली ही नहीं पूरी दुनिया को ये बताया कि दिल्ली वो नहीं है जिसकी हिंसक और नफरत भरी तस्वीरें बीते दिनों में देखी गई. खजूरी खास के लोगों ने दिखाया कि दिल्ली अमन, तहजीब, भाईचारे और सौहार्द की मिसाल है.

मौजपुर की हर गली में फ्लैग मार्च

खजूरी खास की तरह उत्तर पूर्वी दिल्ली के मौजपुर में भी मुस्लिम समुदाय के लोग मंदिरों के आगे पहरा देते नजर आए. इलाके में सोमवार और मंगलवार को काफी हिंसा देखने को मिली. फिलहाल स्थिति सामान्य है. RAF जवानों ने रात को दो बजे एक-एक गली में जाकर फ्लैग मार्च निकाला. उन्होंने गलियों में पहरा दे रहे लोगों को सुरक्षा को लेकर सुनिश्चित किया और घरों में जाने की हिदायत दी.

मौजपुर इलाके में अलग-अलग समुदाय के लोग रहते हैं. रात के दो बजे एक मंदिर के बाहर मुस्लिम समुदाय के लोग पहरा देते दिखाई दिए. लोगों का कहना है कि बाहर से कोई भी शरारती तत्व आकर किसी प्रकार की घटना को अंजाम देकर माहौल ना बिगाड़ सके. इसलिए वे मंदिर के बाहर बैठे कर पहरा दे रहे थे.

ये भी पढ़ें –

Exclusive : AAP पार्षद के घर से मिला दंगे का सामान, इन्‍हीं पर IB अफसर की हत्‍या की साजिश का आरोप

LIVE Delhi Violence: दंगों की भेंट चढ़ीं 34 जिंदगियां, कांग्रेस नेताओं ने राष्ट्रपति को सौंपा ज्ञापन

Related Posts