केरल: सबरीमाला मंदिर तीर्थ यात्रा में कोरोना सुरक्षा नियमों का रहे खास ध्यान, हाईकोर्ट पहुंचे अधिकारी

अधिकारी (Officer) ने हाईकोर्ट में सिफारिश (Recommendation) में कहा है कि तीर्थ यात्रा के दौरान हर साल की तरफ लंबी लाइनें न लगने दी जाएं, साथ ही बच्चों और बुजुर्गों की तीर्थ यात्रा पर इस साल रोक लगाई जाए.

अधिकारी ने सबरीमाला तीर्थ यात्रा के दौरान कोरोना नियमों का ध्यान रखने के लिए हाईकोर्ट में सिफारिश की है.

कोरोना महामारी (COVID-19) के बीच अगले महीने से केरल के प्रसिद्ध सबरीमाला मंदिर (Sabarimala Temple ) में हर साल होने वाली तीर्थ यात्रा शुरू होने जा रही है, जिसे लेकर कोर्ट द्वारा नियुक्त अधिकारी ने तीर्थ यात्रियों में महामारी (Pandemic) के खतरे को टालने के लिए कुछ नियमों को लागू करने की सिफारिश (Recommendation) की है.

अधिकारी (Officer) ने हाईकोर्ट में सिफारिश में कहा है कि तीर्थ यात्रा (Pilgrimage) के दौरान हर साल की तरह लंबी लाइनें न लगने दी जाएं, साथ ही बच्चों और बुजुर्गों की तीर्थ यात्रा पर इस साल रोक लगाई जाए, साथ ही श्रद्धालुओं के लिए कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट (Corona Negative Report) दिखाना अनिवार्य किया जाए.

ये भी पढ़ें- लॉकडाउन के बाद पांच दिवसीय पूजा के लिए 16 अक्टूबर को खुलेगा सबरीमाला मंदिर

सबरीमाला तीर्थ यात्रा में कोरोना संक्रमण का खतरा

केरल हाईकोर्ट में दाखिल अपनी रिपोर्ट में सबरीमाला विशेष आयुक्त एम मनोज ने कहा कि 16 नवंबर से शुरू हो रही तीर्थ यात्रा के दौरान जब दो महीने तक लाखों लोग पहाड़ी पर स्थित तीर्थ स्थल पहुंचेंगे, तो भीड़ प्रबंधन को लेकर खतरा है. रिपोर्ट में उन्होंने कहा कि इस खतरे से बचने के लिए अधिकारियों को दुकानों, होटलों, पेयजल आपूर्ति, शौचालय और कर्मचारियों के कमरों में स्वच्छता सुनिश्चित करनी चाहिए.

हालही में दाखिल रिपोर्ट में सुझाव दिया गया है कि श्रद्धालुओं को कोरोना मुक्त प्रमाण पत्र देना जरूरी हो. दरअसल केरल सरकार ने 28 सितंबर को घोषणा की थी कि वह भगवान अयप्पा के मंदिर दर्शन के लिए वार्षिक तीर्थयात्रा का आयोजन कराने के लिए जरूरी कदम उठा रही है, इस दौरान कोविड-19 नियमों को कड़ाई से लागू किया जाएगा.

श्रद्धालुओं के लिए 16 अक्टूबर को खुलेगा सबरीमाला मंदिर

सबरीमाला मंदिर में भगवान अयप्पा मंदिर को 16 अक्टूबर को श्रद्धालुओं के लिए खोला जाएगा. कोरोना महामारी  के चलते लगाए गए लॉकडाउन के तहत सबरीमाला मंदिर (Sabarimala Temple) में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक लगा दी गई थी.

ये भी पढ़ें- केरल: दो महीने तक होगा सबरीमला उत्सव, सीएम विजयन बोले- कम श्रद्धालुओं को इजाजत

सबरीमाला में भगवान अयप्पा मंदिर में सुरक्षा व्यवस्था का काम पूरा हो गया है. मंदिर को 16 अक्टूबर की शाम को मासिक पांच दिवसीय पूजा के लिए खोला जाएगा. पुलिस ने यह जानकारी दी.

Related Posts