आज गृहमंत्री से मिलेंगी IPS की पत्नी, खुदकुशी से पहले पति ने ममता को ठहराया था जिम्मेदार

गौरव चंद्र दत्ता ने सुसाइड नोट में प्रदेश में काम कर रहे आईपीएस अधिकारियों के लिए भी बड़ा संदेश लिखा. दत्ता ने लिखा, 'जो भी आईपीएस अधिकारी सत्तारूढ़ पार्टी को संतुष्ट करने के लिए काम कर रहे हैं. जो कानून के दायरे में काम नहीं कर रहे हैं, उन सभी के लिए मैं कहना चाहता हूं, कि आप हमेशा याद रखिए कि वर्तमान सरकार के लिए आप केवल यूज एंड थ्रो करने वाले एक मोहरा मात्र हैं.'
, आज गृहमंत्री से मिलेंगी IPS की पत्नी, खुदकुशी से पहले पति ने ममता को ठहराया था जिम्मेदार

कोलकाता: रिटायर्ड आईपीएस अधिकारी गौरव चंद्र दत्ता सुसाइड केस ने पश्चिम बंगाल की राजनीति में भूचाल ला दिया है. इस मामले में आज दिवंगत आईपीएम अधिकारी की पत्नी गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात करेंगी. आईपीएस अधिकारी के सुसाइड नोट में मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी पर संगीन आरोप लगाए गए हैं. अब यह सुसाइड नोट सामने भी आ गया है. सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा, ‘आदरणीय मैडम मुख्यमंत्री, मुझे उम्मीद है मेरे इस कदम से आप का काला दिल बदलेगा’. इसके साथ ही आईपीएस गौरव ने अपने सुसाइड नोट में ममता बनर्जी सरकार की पोल खोलकर रख दी है.

गौरव चंद्र दत्ता ने सुसाइड नोट में प्रदेश में काम कर रहे आईपीएस अधिकारियों के लिए भी बड़ा संदेश लिखा. दत्ता ने लिखा ‘जो भी आईपीएस अधिकारी सत्तारूढ़ पार्टी को संतुष्ट करने के लिए काम कर रहे हैं. जो कानून के दायरे में काम नहीं कर रहे हैं, उन सभी के लिए मैं कहना चाहता हूं, कि आप हमेशा याद रखिए कि वर्तमान सरकार के लिए आप केवल यूज एंड थ्रो करने वाले एक मोहरा मात्र हैं. आज नहीं, तो कल आपको जरूर इस्तेमाल के बाद फेंक दिया जाएगा. भले आज आप सत्ता के करीब हैं, लेकिन कल जरूर आपको दूर फेंक‌ दिया जाएगा’.

सुसाइड नोट

, आज गृहमंत्री से मिलेंगी IPS की पत्नी, खुदकुशी से पहले पति ने ममता को ठहराया था जिम्मेदार , आज गृहमंत्री से मिलेंगी IPS की पत्नी, खुदकुशी से पहले पति ने ममता को ठहराया था जिम्मेदार , आज गृहमंत्री से मिलेंगी IPS की पत्नी, खुदकुशी से पहले पति ने ममता को ठहराया था जिम्मेदार , आज गृहमंत्री से मिलेंगी IPS की पत्नी, खुदकुशी से पहले पति ने ममता को ठहराया था जिम्मेदार

प्रदेश के एक आईपीएस अधिकारी के इस सुसाइड नोट ने चुनावी माहौल में ममता बनर्जी पर विपक्ष को सियासी हमला करने का मौका दे दिया है. गौरव चंद्र दत्ता का शव मंगलवार शाम को सॉल्टलेक के उनके फ्लैट में मिला था. पुलिस के मुताबिक, गौरव चंद्र दत्ता अपने घर में अकेले रहते थे. पुलिस ने अस्वाभाविक मौत का मामला दर्ज किया था.

1986 बैच के आईपीएस अधिकारी दत्ता राज्य में आईजी की रैंक से स्वेच्छा से सेवानिवृत्त हुए थे. लेफ्ट सरकार के दौरान गौरव चंद्र दत्ता पश्चिम मिदनापुर और मुर्शिदाबाद के साथ तीन जिलों के पुलिस प्रमुख भी थे.

Related Posts