उद्धव ठाकरे के अयोध्या आने पर RPI करेगी विरोध, कहा- साधु संतों और नारी सम्मान का किया अपमान

RPI ने कहा कि जिस तरह से महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) ने फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) पर बदले की भावना से कार्रवाई की, वह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय है. महाराष्ट्र सरकार ने नारी सम्मान के खिलाफ जाकर यह घटिया कदम उठाया.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 8:21 pm, Sat, 19 September 20

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत के बाद से उनके पक्ष में अभियान चलाने वाली फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के खिलाफ मुंबई में की गई कार्रवाई के विरोध में अयोध्या में तमाम साधु-संतों के बाद रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (RPI) ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के अयोध्या आने पर उनका जमकर विरोध करने की बात कही है.

RPI के प्रदेश अध्यक्ष पवन भाई गुप्ता (Pawan Bhai Gupta) ने शनिवार को अयोध्या दौरे के दौरान साधु-संतों से मुलाकात की. इस दौरान संतों ने पालघर (Palghar) में साधुओं की हत्या की CBI जांच की मांग की. इस पर उन्होंने संतों की हत्या की CBI जांच के लिए संघर्ष करने की बात कही. उन्होंने कहा, “महाराष्ट्र में संतों की हत्या के बाद सरकार का जिस तरह का रवैया रहा है, वह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है. हम सड़क से संसद तक इस मामले को उठाएंगे.”

RPI ने चंपत राय के बयान पर किया पलटवार

इसके साथ ही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लेकर श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट (Ram Janmabhoomi Trust) के महासचिव चंपत राय (Champat Rai) के बयान पर RPI ने पलटवार किया है. पवन भाई गुप्ता ने कहा कि चंपत राय का बयान अयोध्या के साधु-संतों का अपमान है.

उनका बयान भगवान श्रीराम जन्मभूमि की गरिमा के खिलाफ है. अयोध्या के साधु-संत पूजनीय हैं. उन्होंने राममंदिर निर्माण के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया. उनके सम्मान को ठेस किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

‘कंगना रनौत पर बदले की कार्रवाई बेहद निंदनीय’

गुप्ता ने कहा कि बाबा साहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर (Bhimrao Ambedkar) ने हमेशा नारी सम्मान और सशक्तिकरण पर बल दिया. उन्होंने कहा कि जिस तरह से महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) ने फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत पर बदले की भावना से कार्रवाई की, वह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय है. महाराष्ट्र सरकार ने नारी अस्मिता के खिलाफ जाकर यह घटिया कदम उठाया. मुंबई एयरपोर्ट पर RPI के कार्यकर्ताओं ने पहुंचकर कंगना रनौत को सुरक्षा दी.

‘RPI ने नारी अस्मिता की रक्षा के लिए लड़ी लड़ाई’

गुप्ता ने कहा, “हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले (Ramdas Athawale) ने कंगना मामले में महाराष्ट्र के राज्यपाल से भी मुलाकात की. साथ ही उनके नेतृत्व में RPI के एक-एक कार्यकर्ता ने नारी अस्मिता की रक्षा के लिए लड़ाई लड़ी.”

मालूम हो कि कंगना रनौत के खिलाफ मुंबई में कार्रवाई के विरोध में अयोध्या (Ayodhya) में तमाम साधु-संतों ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ठाकरे को अयोध्या में न घुसने देने का ऐलान किया है. इसके विपरीत श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय से साफ कह दिया है कि उद्धव ठाकरे को अयोध्या आने से कोई रोक नहीं सकता. चंपत राय महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के समर्थन में मैदान में उतरे हैं.

TV9 भारतवर्ष पोल: क्रिकेट खेला है तभी आप दे पाएंगे IPL से जुड़े इस सवाल का जवाब