RSS प्रमुख मोहन भागवत संग शीर्ष संघ नेताओं का ट्विटर पर डेब्यू

मोहन भागवत की ट्विटर प्रोफाइल के मुताबिक उन्होंने मई 2019 में ही इसे जॉइन कर लिया था लेकिन अकाउंट वेरिफाइड अब हुआ है.

नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rashtriya Swayamsewak Sangh) के कई पदाधिकारी अब सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर आ चुके हैं. माना जा रहा है कि यह कदम नई पीढ़ी के साथ सीधे संवाद करने की दिशा में उठाया गया है. सरसंघचालक मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) के साथ-साथ संघ के कई पदाधिकारी अब ट्विटर पर मौजूद रह युवाओं से संवाद करेंगे. बीते कुछ सालों में संघ ने कई बदलावों को स्वीकार किया है और तेजी से अपना प्रभाव भी बढ़ाया है. इस कदम को भी उसी दिशा में देखा जा रहा है.

सिर्फ एक अकाउंट पर फॉलो कर रहे सरसंघचालक

सरसंघचालक मोहन भागवत के ट्विटर प्रोफाइल @DrMohanBhagwat पर नजर डाले तो अकाउंट मई 2019 में बनाया गया है जो अब वेरीफाईड हुआ है. खबर लिखे जाने तक उनके सात हजार फॉलोवर्स है जबकि वो केवल राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अकाउंट को फॉलो कर रहे हैं. ट्विटर पर संघ @Rssorg 2011 से ही मौजूद है, इसके 1.32 मिलियन से ज्यादा फॉलोवर्स हैं.

मोहन भागवत की ट्विटर प्रोफाइल के मुताबिक उन्होंने मई 2019 में ही इसे जॉइन कर लिया था लेकिन अकाउंट वेरिफाइड अब हुआ है. वहीं, संघ के कई अहम पदाधिकारियों ने बीते कुछ ही दिनों में यहां अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है. इनमें संघ के जिन प्रमुख लोगों ने ट्विटर अकाउंट बनाए हैं उनमें सह सर कार्यवाह कृष्ण गोपाल (@KGopalRSS ), अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख अरुण कुमार (@ArunKumRSS) , सह सरकार्यवाह सुरेश सोनी (@SureshSoni1925), अखिल भारतीय संपर्क प्रमुख अनिरुद्ध देशपांडे (@AniruddhaRSS ) और सरकार्यवाह सुरेश जोशी ( @SureshBJoshi ) शामिल हैं. इन्होंने हाल ही में ट्विटर पर अपनी प्रोफाइल बनाई है. वहीं आरएसएस के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले 2014 से ही ट्विटर पर मौजूद हैं.

पिछले महीने की शुरुआत में ही संघ प्रमुख ने मोदी सरकार-2 से अनुच्छेद-370 पर फैसला लेने की उम्‍मीद जताई थी. उन्‍होंने कहा था कि सरकार से कश्मीर में अनुच्छेद-370 खत्‍म करने की उम्मीद की जाएगी. इसे पहले भी चुनाव के दौरान मंदिर मामले पर हुई राजनीति पर संघ ने कहा था कि वह सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतज़ार करेगा.

ये भी पढ़ें: “कच्‍चे खिलाड़ी हैं बेटे आकाश विजयवर्गीय, अधिकारियों को नहीं होना चाहिए एरोगेंट”

ये भी पढ़ें: महबूबा मुफ्ती को पाकिस्तान से प्यार, टीम इंडिया की केसरिया जर्सी से परेशानी- J&K बीजेपी अध्यक्ष रविंद्र रैना