RSS का विस्‍तार हुआ तेज, 2010 के बाद खुलीं 20 हजार नई शाखाएं

मनमोहन वैद्य ने अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की तीन दिवसीय बैठक से पहले ये बात मीडिया से कही.
RSS Manmohan Vaidya, RSS का विस्‍तार हुआ तेज, 2010 के बाद खुलीं 20 हजार नई शाखाएं

देश में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का विकास तीव्र गति से हो रहा है. बुधवार को आरएसएस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि 2010 से अब तक 20 हजार नई शाखाएं खोली जा चुकी हैं. 9 साल में ये रिकॉर्ड बढ़ोत्तरी है.

आरएसएस के सह सरकार्यवाह मनमोहन वैद्य ने बताया कि 2010 के बाद पूरे देश में संघ ने 19, 584 नई शाखाएं जोड़ी हैं जो कि इतिहास में सबसे ज्यादा है. उन्होंने बताया कि देश में अब 57 हजार शाखाएं हैं. 2010 से 2014 के बीच 6 हजार शाखाएं बनीं यानी हर साल तकरीबन 1500 नई शाखाएं जोड़ी गईं.

RSS Manmohan Vaidya, RSS का विस्‍तार हुआ तेज, 2010 के बाद खुलीं 20 हजार नई शाखाएं
मनमोहन वैद्य

मनमोहन वैद्य ने अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की तीन दिवसीय बैठक से पहले ये बात मीडिया से कही. उन्होंने जोर देकर ये बात कही कि जब बीजेपी सत्ता से बाहर थी तब ये बढ़ोत्तरी हुई. वैद्य ने ये भी जोड़ा कि स्वयंसेवकों की आयु वर्ग में भी कमी आई है. 60 प्रतिशत शाखाएं स्कूल-कॉलेजों की हैं जबकि 19 प्रतिशत कारोबारियों और व्यापारियों की है.

वैद्य ने बताया कि इस बीच आरएसएस के प्रति लोगों का रुझान बढ़ा है. उन्होंने बताया कि 2013 में जब Join RSS  वेबसाइट शुरू की गई थी तब इस पर 28 हजार 843 आवेदन आए थे जबकि इस साल सितंबर तक जॉइन करने के लिए एक लाख से ज्यादा आवेदन मिल चुके हैं.

आरएसएस की नई कार्यशैली पर बात करते हुए वैद्य ने बताया कि अब संघ सामाजिक बदलाव के क्षेत्र में काम कर रहा है और उसके वर्कर पांच हजार गांवों में फैले हुए हैं.

Related Posts