2019 का जनादेश राम मंदिर के लिए, सुप्रीम कोर्ट को मानना चाहिए: शिवसेना

शिवसेना ने कहा है कि 2019 का लोकसभा चुनाव का नतीजा रामराज्य और राम मंदिर के समर्थन में दिया गया जनादेश है.

मुंबई: शिवसेना ने RSS सरसंघचलाक प्रमुख मोहन भागवत के ‘राम का काम’ वाले बयान पर अपने मुखपत्र ‘सामना’ के जरिए प्रतिक्रिया दी है. पत्र के संपादकीय में कहा गया है कि ‘मोदी सरकार में राम मंदिर का निर्माण हो. सरसंघचलाक ने यही कहा है.’ भागवत ने यह स्‍पष्‍ट नहीं किया था कि वह अयोध्‍या में राम मंदिर निर्माण की बात कर रहे हैं. संपादकीय में कहा गया है, “अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हो इसके लिए सैकड़ों कारसेवकों ने अपना बलिदान दिया है. उनकी शहादत और खून को व्यर्थ नहीं जाने देंगे, ऐसे विचारोंवाली सरकार लोगों द्वारा चुनकर दिए जाने के बाद राम का काम होगा ही. सरसंघचालक ने यही कहा है.

शिवसेना ने विपक्षी दलों की तुलना रावण, विभीषण, कंस से तुलना करते लिखा है कि अब “कम-से-कम किसान आत्महत्या नहीं करेगा, घर का चूल्हा दो वक्त जलेगा, लोग सभी धर्मों का त्योहार कर्ज लिए बिना मनाएंगे, मुख्य रूप से जाति-धर्म की दीवार टूटकर गिर जाएगी, अखंड हिंदुस्थान का सपना साकार होगा और दुनियाभर में श्रीराम के देश की जय-जयकार होगी. इसे ही हम रामराज्य कहते हैं.”

“मोदी ने ऐसे ही रामराज्य की कटिबद्धता व्यक्त की है और यही श्रीराम का काम है. राम का काम करने से अब उन्हें कौन रोकेगा? जिन्होंने रोकने की कोशिश की उस रावण, विभीषण, कंस मामा वगैरह टोलियों को जनता ने घर बैठा दिया. इसलिए राम का विजय रथ अब कोई नहीं रोक सकता.”

“जनादेश को माने सुप्रीम कोर्ट”

‘सामना’ में सुप्रीम कोर्ट पर भी टिप्‍पणी की गई है. इसमें लिखा है, “चुनाव से पहले नरेंद्र मोदी ने स्पष्ट किया था कि अयोध्या में राम मंदिर की नींव रखी जाएगी ही लेकिन वो कानून और सर्वोच्च न्यायालय की सहमति से होगा. हम उनकी भूमिका से सहमत हैं लेकिन सर्वोच्च न्यायालय को भी सबूतों को चबाते न बैठते हुए जनभावना या जनादेश को मानना चाहिए.

शिवसेना के सभी सांसद अयोध्‍या जाने वाले हैं, ऐसी घोषणा ‘सामना’ के संपादकीय में की गई है. इसमें लिखा गया है, “2019 का लोकसभा चुनाव का नतीजा रामराज्य और राम मंदिर के समर्थन में दिया गया जनादेश है. उत्तर प्रदेश में भाजपा ने 61 सीटों पर जीत हासिल की यह प्रभु श्रीराम का ही आशीर्वाद है. महाराष्ट्र में शिवसेना-भाजपा को जो बड़ी सफलता मिली वह श्रीराम का ही आशीर्वाद है. हमने खुद अयोध्या का दौरा कर श्रीराम का दर्शन किया और जल्द ही सभी विजयी सांसदों सहित अयोध्या जानेवाले हैं.”

ये भी पढ़ें

दूसरी बार सरकार बनाने निकले नमो, जानें कितनी जानदार है BJP की जीत

‘केजरीवाल दुबले-पतले हैं इसलिए थप्पड़ से लड़खड़ा जाते हैं’, सामना में शिवसेना ने लिखा