संबित पात्रा का ट्वीट वायरल, जवाब में रेलवे ने कहा- संस्कृत में नहीं बदला देहरादून स्टेशन का नाम

जोनल रेलवे (Zonal Railway) की तरफ से कहा गया है कि देहरादून स्टेशन पर यार्ड रीमॉडलिंग का काम चल रहा था, ऐसे में कंस्ट्रक्शन साइट पर कुछ बोर्ड मौजूद थे जिसमें कुछ में संस्कृत में नाम गलती से लिखा गया था.
Sambit Patra tweet on Dehradun in Sanskrit, संबित पात्रा का ट्वीट वायरल, जवाब में रेलवे ने कहा- संस्कृत में नहीं बदला देहरादून स्टेशन का नाम

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा (Sambit Patra) ने सोमवार को एक ट्वीट किया जिसमें देहरादून रेलवे स्टेशन (Dehradun Railway Station) के साइन बोर्ड की एक तस्वीर है. इस पिक में देहरादून शब्द हिन्दी और अंग्रेजी के साथ उर्दू की जगह संस्कृत (Sanskrit) में देहरादूनम (Dehradunam) लिखा हुआ है. हालांकि रेलवे ने कहा है कि जमीनी स्तर पर ऐसा नहीं है.

दिल्ली में नॉर्दन रेलवे के अधिकारियों ने कहा कि देहरादून (Dehradun) के स्टेशनों के साइनबोर्ड्स पर संस्कृत में नाम नहीं लिखा है. ये पहले की तरह ही अंग्रेजी, हिंदी और उर्दू में हैं. रेलवे मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि ये सोशल मीडिया पर कंफ्यूजन पैदा किया गया है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

जोनल रेलवे की सफाई

जोनल रेलवे (Zonal Railway) की तरफ से कहा गया है कि देहरादून स्टेशन पर यार्ड रीमॉडलिंग का काम चल रहा था, ऐसे में कंस्ट्रक्शन साइट पर कुछ बोर्ड मौजूद थे जिसमें कुछ में संस्कृत में नाम गलती से लिखा गया था. पहचान होने पर उसे ठीक करके फिर से इंग्लिश, हिंदी और उर्दू में कर दिया गया .

मामले ने उस वक्त तूल पकड़ा जब बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष (BJP National Vice President) विनय सहास्त्रबुद्धे (Vinay Sahasrabuddhe) ने सबसे पहले ईगल आई (Eagle Eye) नाम के ट्विटर हैंडल के ट्वीट को रीट्वीट किया. जिसमें दो बोर्ड्स हैं जिसमें पुराने बोर्ड में इंग्लिश, हिंदी और उर्दू में नाम लिखा है, जबकि दूसरे बोर्ड में इंग्लिश, हिंदी और संस्कृत में नाम लिखा है.

संबित पात्रा ने किया रीट्वीट

विनय ने ट्वीट में लिखा कि रेलवे के इस महत्वपूर्ण कदम को साझा करने के शुक्रिया. जिसके बाद पात्रा ने पिक्चर को रीट्वीट करके संस्कृत लिखा. जिसके बाद रात तक लगभग इस ट्वीट पर 95000 लाइक्स और 18000 रीट्वीट और कमेंट किए गए.

उत्तराखंड की दूसरी आधिकारिक भाषा है संस्कृत

आपको बता दें कि संस्कृत उत्तराखंड की दूसरी आधिकारिक भाषा है. सूत्रों के मुताबिक उत्तर रेलवे ने आधिकारिक तौर पर राज्य सरकार से देहरादून जिले के स्टेशनों के संस्कृत नाम प्राप्त करने के लिए पिछले साल 17 सितंबर को देहरादून के जिला मजिस्ट्रेट को एक पत्र भेजा था, लेकिन कोई जवाब नहीं आया.

13 फरवरी को फिर से एक रिमाइंडर भेजा गया जिसमें कहा गया कि, राज्य के कुछ संगठनों ने 12 फरवरी, 2020 को इस बात को लेकर संस्कृत नाम तत्काल लिखा जा सकता है. ये उस वक्त प्रैक्टिस के तौर पर किया गया था, लेकिन कुछ स्थानीय विरोध के बाद ऐसा नहीं किया जा सका.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts