“कुर्सी बचाने के लिए रंजिश फैला रहे नेता, लोगों के दिलों में है प्यार”, बोले समझौता एक्सप्रेस के यात्री

दिल्ली के दरियागंज में रहने वाले परवेज खान अपनी बहन असरा को लेने जब पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर पहुंचे तो उनका इंतजार काफी लंबा रहा.


नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 को हटाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. पाकिस्तान ने समझौता एक्सप्रेस को गुरुवार को रोक दिया था. इसके बाद पाकिस्तान ने भारत सरकार को संदेश भेजा कि अपने रेलवे क्रू को भेजकर समझौता एक्सप्रेस को अटारी बॉर्डर से ले आए.

भारतीय रेल कर्मचारी समझौता एक्सप्रेस को लेकर आज सुबह तकरीबन 8:00 बजे पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर पहुंचे. ट्रेन में कुल 117 यात्री सवार थे जिसमें से 46 यात्री पाकिस्तानी नागरिक हैं.

दिल्ली के दरियागंज में रहने वाले परवेज खान अपनी बहन असरा को लेने जब पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर पहुंचे तो उनका इंतजार काफी लंबा रहा. पूरी रात उन्होंने स्टेशन पर उस ट्रेन का इंतजार किया जो दो मुल्कों के बीच अच्छे संबंधों की एक मिसाल लंबे समय से पेश करती आई है.

जब असरा की बहन आसिमा का दर्द हमने जानना चाहा तो वे फूट-फूटकर रोने लगीं. और पाकिस्तान की उस सरकार को कोसने लगीं जिसके चलते लोगों को बॉर्डर पार आने-जाने में दिक्कत हो रही है.

एक और यात्री ने कहा कि ट्रेन को रोकना ठीक नहीं है. इससे लोगों को परेशानी हुई है. दोनों देशों के आम लोगों के दिलों में एक-दूसरे के लिए बहुत मोहब्बत है. बड़े-बड़े नेताओं ने अपनी कुर्सी बचाने के लिए रंजिशें फैला रखी हैं. हम भारत सरकार के शुक्रगुजार हैं.

ये भी पढ़ें-

LIVE: कश्‍मीर पर अमेरिका की पॉलिसी में ‘नो चेंज’, गिड़गिड़ाते PAK की UNSC ने भी नहीं सुनी

पाकिस्तान का कपड़ा और दवाई उद्योग हो जाएगा ठप? अपनी ही जाल में फंस गया पड़ोसी मुल्क

भतीजे रिजवान की गिरफ्तारी से भड़का दाऊद, फहीम मचमच को दी गालियां