वेज हैं अंडा और चिकन, संसद में बोले शिवसेना नेता संजय राउत

संजय राउत ने मांग रखी कि आयुष मंत्रालय को प्रमाणित करना चाहिए कि यह अंडा शाकाहारी है या मांसाहारी है.

नई दिल्ली: शिवसेना नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा है कि मुर्गी और अंडा शाकाहारी भोजन हैं! उन्होंने कहा कि यह आयुष मंत्रालय का जिम्मा है कि वो ये प्रमाणित करे, ताकि शाकाहारी लोगों को प्रोटीन युक्त भोजन मिल सके. राउत ने यह बात राज्यसभा में आयुर्वेद पर चर्चा के दौरान कही. उन्होंने बताया कि आयुर्वेदिक मुर्गी और आयुर्वेदिक अंडा होता है.

राउत ने इस दौरान ‘आयुर्वेद कहां पहुंच चुका है’ इसका भी जिक्र किया. उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र के नंदूरबार में एक आदिवासी गांव में जब वह गए तो उन्हें खाने में मुर्गी परोसी गई. राउत ने मुर्गी खाने से इनकार किया तो उन्हें बताया गया कि यह आयुर्वेदिक मुर्गी है. गांव के आदिवासी ने सांसद को बताया कि इस मुर्गी का पालन इस तरह से किया गया है कि इसे खाकर शरीर के सभी रोग निकल जाएंगे.

‘आयुर्वेदिक अंडे पर चल रहा शोध’
राउत ने यह भी बताया कि हरियाणा स्थित चौधरी चरण सिंह कृषि संस्थान के लोग ऐसे अंडे पर शोध कर रह हैं जो आयुर्वेदिक है. राउत के मुताबिक संस्थान के कुछ लोग उनसे मिलने आए और इस बाबत उनसे बात की. उन्होंने कहा कि उन्हें बताया गया कि जिस पोल्ट्री में मुर्गियों को रखा जाता है उन्हें सिर्फ हर्बल खिलाते हैं… जैसे लौंग, तिल… उससे जो अंडा पैदा होता है वह पूरी तरह से आयुर्वेदिक है.

राउत ने मांग रखी कि आयुष मंत्रालय को प्रमाणित करना चाहिए कि यह अंडा शाकाहारी है या मांसाहारी है. उन्होंने कहा कि देश में शाकाहार और मांसाहर को लेकर बहुत बड़ा विवाद छिड़ रहा है और ऐसे में मंत्रालय की जिम्मेदारी बनती है. उन्होंने कहा कि आयुष मंत्रालय यह तय करे कि मुर्गा शाकाहारी है या मांसाहारी.

ये भी पढ़ें-

LIVE: मुंबई के डोंगरी में ढही इमारत, 12 लोगों की मौत, 15 परिवारों को बचाने की जद्दोजहद में NDRF

राज्यसभा में NIA बिल आज किया जाएगा पेश, BJP ने सांसदों के लिए जारी किया व्हिप

कुलभूषण जाधव मामले में इंटरनेशनल कोर्ट आज सुनाएगी अहम फैसला