राम मंदिर निर्माण के लिए अयोध्‍या जाएगी शिवसेना, बंगाल में अब तक जारी है बवाल

शिवसेना अपने सांसदों को अयोध्‍या ले जा रही है तो ममता 'जय श्री राम' के नारे पर विरोध झेल रही हैं.
राम मंदिर निर्माण, राम मंदिर निर्माण के लिए अयोध्‍या जाएगी शिवसेना, बंगाल में अब तक जारी है बवाल

नई दिल्‍ली: लोकसभा चुनाव खत्‍म हो चुका है मगर भगवान राम सुर्खियों में बने हुए हैं. ख़बर है कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अपने सभी लोकसभा सांसदों को लेकर अयोध्‍या जाने वाले हैं. संसद का आगामी सत्र शुरू होने से पहले ही यह दौरा पूरा हो जाएगा. पिछले साल नवंबर में अयोध्‍या जाकर ठाकरे ने जल्‍द से जल्‍द राम मंदिर बनाने की मांग की थी.

इस बीच शिवसेना प्रवक्‍ता संजय राउत ने कहा है कि अगर इस बार भी राम मंदिर निर्माण का वादा नहीं निभाया गया तो जनता जूतों से मारेगी. राउत ने कहा, “2014 में हमने राम मंदिर निर्माण का वादा किया था, लेकिन पूरा नहीं किया. हाल का चुनाव भी राम के नाम पर लड़ा गया… मुझे लगता है कि इस बार राम मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा क्‍योंकि अगर हम ऐसा नहीं करेंगे तो देश हम पर भरोसा करना छोड़ देगा और जनता गुस्‍से में हमें जूतों से मारेगी.”

कुछ भी ट्वीट करती हैं ममता, लोग लिखने लगते हैं ‘जय श्री राम’

‘जय श्री राम’ के नारे पर पश्चिम बंगाल में मचा बवाल शांत नहीं हो रहा. ट्विटर पर सीएम ममता बनर्जी को भाजपा समर्थकों ने घेर रखा है. हालत ये है कि ममता किसी भी मुद्दे पर ट्वीट करें, लोग कमेंट में ‘जय श्री राम’ लिखकर उन्‍हें चिढ़ा रहे हैं. उदाहरण के तौर पर ममता ने गुरुवार को टीम इंडिया को वर्ल्‍ड कप 2019 मैच के लिए बधाई दी थी, मगर लोग जवाब में ‘जय श्री राम’ लिखने लगे.

‘फर्श साफ कर रहे बंगाली, लड़कियां कर रहीं बार में डांस’

पश्चिम बंगाल में बवाल सिर्फ ‘जय श्री राम’ पर ही नहीं, हिंदी भाषा के विरोध पर भी हो रहा है. मेघालय के राज्‍यपाल तथागत रॉय ने एक ट्वीट में बंगाल का जिक्र क्‍या किया, लोग उनके पीछे ही पड़ गए. रॉय ने लिखा था, “बंगाल कभी महान हुआ करता था. अब उसकी महानता चली गई है. हरियाणा से लेकर केरल तक बंगाली लड़के घरों में फर्श साफ कर रहे हैं और बंगाली लड़कियां मुंबई के बार में नाच रहीं हैं. अब यहां के लड़के-लड़कियां जो कर रहे हैं, वह पहले सोचा नहीं जा सकता था.” तृणमूल कांगेस ने राज्‍यपाल के बयान पर गुरुवार को विरोध-प्रदर्शन किया.

Related Posts