संसद का बजट सत्र : पहले दिन दिल्ली हिंसा पर विपक्ष के हंगामे के बाद लोकसभा और राज्यसभा स्थगित

सदन के दोबारा शुरू होते ही लोकसभा और राज्यसभा दोनों सदनों में विपक्ष के सांसदों ने दिल्ली हिंसा पर फिर से हंगामा शुरू कर दिया. इसके बाद दोनों सदनों को मंगलवार 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया.
Second phase of the budget session of Parliament, संसद का बजट सत्र : पहले दिन दिल्ली हिंसा पर विपक्ष के हंगामे के बाद लोकसभा और राज्यसभा स्थगित

संसद के बजट सत्र का दूसरा भाग आज सोमवार को शुरू होते ही हंगामे की भेंट चढ़ गया. सत्र के शुरू होते ही दिल्ली हिंसा को लेकर विपक्ष का हंगामा शुरू हो गया. हालात को देखते हुए स्पीकर ओम बिरला ने बिहार के बाल्मीकि नगर क्षेत्र से सांसद बैजनाथ महतो को श्रद्धांजलि देने के बाद लोकसभा को दो बजे तक के लिए स्थगित कर दिया.

सदन के दोबारा शुरू होते ही लोकसभा और राज्यसभा दोनों सदनों में विपक्ष के सांसदों ने दिल्ली हिंसा पर फिर से हंगामा शुरू कर दिया. लोकसभा में विपक्षी दलों के सांसदों ने सदन के बेल में जाकर नारेबाजी की पोस्टर लहराए. वहीं राज्यसभा में भी हंगामा चलता रहा. इसके बाद दोनों सदनों को मंगलवार 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया.

इससे पहले संसद परिसर में कांग्रेस समेत विपक्ष के कई दलों के सांसदों ने धरना प्रदर्शन किया. हालांकि, दिल्ली में स्थिति तो सामान्य होने लगी है, लेकिन संसद सत्र में राजनीति गरमाने लगी है.

अमित शाह के इस्तीफे की मांग पर कांग्रेस तलाशेगी साथ

इससे पहले भी कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गृह मंत्री अमित शाह के इस्तीफे की मांग की थी. ऐसे में सत्र की शुरुआत में यही मुद्दा छाए रहने की संभावना साकार हो गई. हालांकि अमित शाह के इस्तीफे की मांग पर कांग्रेस को आगे किन-किन दलों का साथ मिलेगा यह कहना अभी मुश्किल है. विपक्ष मोदी सरकार से नागरिकता संशोधन कानून और एनपीआर में बदलाव करने की मांग भी कर रही है. हालांकि सरकार के रुख से साफ है कि विपक्ष के आक्रमण के सामने वह झुकने वाली नहीं है.

सीएए वापसी की मांग खारिज कर चुके हैं पीएम मोदी

सदन के शुरु होने से पहले आरजेडी के राज्यसभा सदस्य मनोज झा ने साफ-साफ कहा कि ऐसी घटनाओं पर संसद मूकदर्शक बनी नहीं रह सकती है. हम मिलजुलकर अपनी आवाज उठाएंगे. इस मसले पर कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल पहले ही राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को ज्ञापन देकर अपना विरोध जता चुके हैं. सरकार भी विपक्ष के आक्रमण का जवाब देने की रणनीति तैयार कर रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह पहले ही कई बार नागरिकता कानून को वापस लेने की मांग को पूरी तरह खारिज कर चुके हैं.

बजट पास करने की बाकी प्रकिया होगी पूरी

गौरतलब है कि संसद के दूसरे चरण की बैठक तीन अप्रैल तक चलेगी. इस दौरान आम बजट को पारित करने की बाकी प्रक्रियाओं को पूरा किया जाएगा. बजट सत्र की शुरुआत 31 जनवरी को दोनों सदनों की संयुक्त बैठक में राष्ट्रपति के अभिभाषण से हुई थी. बजट सत्र का पहला चरण 11 फरवरी को पूरा हो गया था.

( आईएएनएस इनपुट के साथ )

ये भी पढ़ें –

गुजरात: पांच दिन की ‘अंबे’ पर 20 बार हुआ चाकू से वार, सीएम ने अस्पताल पहुंचकर जाना हाल

CoronaVirus: विदेश मंत्री ने ईरान में फंसे भारतीयों को वापस लाने का किया वादा, थरूर बोले- All The Best

Related Posts