जम्मू में Corona के संदिग्ध मामलों की संख्या पहुंची 1750, गली-कूचों में शुरू हुई फॉगिंग

जम्मू (Jammu) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के करीब 1750 संदिग्ध मामलों पर नजर रखी जा रही है. इसके साथ ही जम्मू में अबतक कोरोना के 2 पॉजिटिव मामलों की पुष्टि हो गई है.
Jammu Municipal Corporation, जम्मू में Corona के संदिग्ध मामलों की संख्या पहुंची 1750, गली-कूचों में शुरू हुई फॉगिंग

जम्मू (Jammu) में कोरोना वायरस (Coronavirus) का दूसरा पॉजिटिव मामला सामने आने के बाद जम्मू नगर निगम ने इस वायरस को फैलने से बचाने के लिए व्यापक अभियान छेड़ दिया है. नगर निगम जम्मू में फॉगिंग, स्प्रे, स्टरलाइजेशन और सैनिटेशन के अभियान चलाकर इस महामारी से लोगों को बचाने की कोशिश में लगा है.

जम्मू में कोरोना वायरस के करीब 1750 संदिग्ध मामलों पर नजर रखी जा रही है. इसके साथ ही जम्मू में अबतक कोरोना के 2 पॉजिटिव मामलों की पुष्टि हो गई है. यह दोनों मामले सामने आने के बाद अब जम्मू नगर निगम ने पूरे शहर में फॉगिंग, स्प्रे, स्टरलाइजेशन और सैनिटेशन जैसे अभियान छेड़कर बीमारी को फैलने से रोकने के प्रयास में लग गया है.

जम्मू नगर निगम का दावा है कि जिन इलाकों से अभी तक कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामले मिले हैं, उन इलाकों के साथ साथ हवाई अड्डे, रेलवे स्टेशन, सरकारी इमारतों, सरकारी हस्पतालों समेत जिन इमारतों में आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं वहां पर इस तरह के अभियान रोजाना चलाए जा रहे हैं.

नगर निगम पूरे शहर में फॉगिंग और स्प्रे के बाद कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए सोडियम हाइपो क्लोराइड और एथेनॉल कर शहर को स्टरलाइज कर रहा है.

Jammu Municipal Corporation, जम्मू में Corona के संदिग्ध मामलों की संख्या पहुंची 1750, गली-कूचों में शुरू हुई फॉगिंग

पोस्टर-डिजिटल स्क्रीन के जरिए फैलाई जा रही जागरूकता

दूसरी तरफ, कोरोना वायरस के प्रकोप और दहशत के मद्देनजर नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को पोस्टर और डिजिटल स्क्रीन पर संदेश के जरिए जागरूक किया जा रहा है. सफाई पर ज्यादा ध्यान दिया जा रहा है, जगह-जगह सेनिटाइजर रखे गए हैं और स्टाफ को मास्क दिए गए हैं.

संक्रमित मरीजों के लिए यहां आइसोलेशन वार्ड भी बनाया गया है. उत्तर रेलवे के सीपीआरओ दीपक ने आईएएनएस को बताया कि यात्रियों को जागरूक करने के लिए थोड़ी-थोड़ी देर बाद माइक से उद्घोषणा कराई जा रही है. पोस्टर लगाए गए हैं और डिजिटल स्क्रीन पर बताया जा रहा है कि कोरोना को लेकर क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए.

उन्होंने कहा कि अगर किसी मरीज के कोराना संक्रमित होने का पता चलता है, तो उसे तुरंत स्टेशन पर बने आइसोलेशन वार्ड में भेज दिया जाता है. स्टेशन पर इन दिनों स्वछता पर ज्यादा जोर दिया जा रहा है. स्टेशन के दफ्तरों को भी सेनिटाइज किया जा रहा है. रेलिंग व सरफेस एरिया है, जिसे यात्री बार-बार छूते हैं, उसे भी तुरंत-तुरंत साफ कराया जा रहा है. हाथ धोने के लिए जगह-जगह सेनिटाइजर रखे गए हैं और स्टाफ को लगाने के लिए मास्क दिए गए हैं.

Related Posts