पंजाब में आतंकी हमले को लेकर हाई अलर्ट, पठानकोट-गुरदासपुर में सर्च ऑपरेशन तेज

सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक पठानकोट में फिर बड़ा आतंकी हमले की साजिश का इनपुट मिला है. पूरे क्षेत्र में सुरक्षा बेहद कड़ी कर दी गई है.

पंजाब में आंतकी हमले के खतरे के कारण सुरक्षा बेहद कड़ी कर दी गई है. पठानकोट में आतंकी हमले का इनपुट मिलने के बाद हाई अलर्ट जारी किया गया है. पठानकोट, गुरदासपुर और बटाला में आतंकी हमले के इनपुट के मद्देनजर अलर्ट जारी करते हुए सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है.

चलाया जा रहा सर्च ऑपरेशन

सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक पठानकोट में फिर बड़ा आतंकी हमले की साजिश का इनपुट मिला है. पूरे क्षेत्र में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है. इसके साथ ही सर्च ऑपरेशन भी चलाया जा रहा है.

पाकिस्तानी ड्रोन देखे गए थे

मालूम हो कि बीते दिन (10 अक्टूबर) पंजाब के फिरोजपुर में एक बार फिर पाकिस्तानी ड्रोन दिखे थे. झुंझारा हजारीसिंह वाला के सीमावर्ती गांव में गुरुवार सुबह गांववालों ने दो ड्रोन देखे थे.

स्थानीय लोगों के मुताबिक ड्रोन गांव के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गए थे. हालांकि, सीमा सुरक्षा बल (BSF) और पुलिस ड्रोन की तलाश में लगी है. बीते कुछ दिनों में कई बार पाकिस्तानी ड्रोन देखे गए.

पाकिस्तान का हाथ बताया गया

गौरतलब है कि खुफिया एजेंसियों ने ड्रोन की घटनाओं से संबंधित एक रिपोर्ट केंद्रीय गृह मंत्रालय को सौंपी है. सूत्रों के मुताबिक, रिपोर्ट में इन घटनाओं के पीछे पाकिस्तान का हाथ बताया गया है.

रिपोर्ट में BSF को लेकर भी सवाल उठाए गए हैं. कहा गया है कि BSF अपने क्षेत्र में किसी भी ड्रोन गतिविधि की उपस्थिति का पता लगाने में सक्षम क्यों नहीं थी.

दो स्थानों पर ड्रोन देखे गए थे

गृह मंत्रालय ने एनआईए से पाकिस्तान की भूमिका की जांच करने को कहा है. रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि जो ड्रोन बरामद किया गया है, वह चीन का बना हुआ था. बुधवार को पंजाब में दो स्थानों पर ड्रोन देखे गए थे. पहले हजारीसिंह वाला गांव में 19.20 बजे और बाद में तेंदीवाला गांव में 22.10 बजे ये ड्रोन देखे गए थे.

बेहद कड़ी कर दी गई सुरक्षा 

वहीं पठानकोट जिला प्रशासन ने सभी विभागों को आपातकालीन स्थिति के लिए तैयार रहने को कहा है. पूरे क्षेत्र में सुरक्षा बेहद कड़ी कर दी गई है. वाहनों को चेकिंग के बाद ही जाने दिया जा रहा है. विभिन्‍न मार्गों के प्रमुख बिंदुओं पर पंजाब पुलिस के जवान तैना‍त हैं. कुछ निजी स्कूलों से उनकी बसों को भी जरूरत पड़ने पर तैयार रखने के निर्देश दिए हैं.

ये भी पढ़ें-

दाऊद के करीबी इकबाल मिर्ची गैंग के दो गुर्गे गिरफ्तार, 200 करोड़ की लैंड डील में की थी मदद

Article 370 खत्म होने के बाद बेहद अहम है शी जिनपिंग का दौरा, आज POK पर हो सकती है चर्चा