भारत में आ सकता है बड़ा हिमालयी भूकंप, वैज्ञानिकों ने कहा- दिल्ली और शिमला तैयार नहीं

सीस्मोलॉजिस्ट के मुताबिक ये भूकंप जल्द ही या कुछ सौ सालों में कभी भी आ सकता है लेकिन वो जोर देकर कह रहे हैं कि जल्द ही इसके लिए देश को तैयार होना जरूरी है.
big Himalayan earthquake, भारत में आ सकता है बड़ा हिमालयी भूकंप, वैज्ञानिकों ने कहा- दिल्ली और शिमला तैयार नहीं

सीस्मोलॉजिस्ट एक बड़े हिमालयी भूकंप (Himalayan earthquake) को लेकर चिंतित हैं. वैज्ञानिकों ने आगाह किया है कि शिमला जैसे पर्वतीय शहरों के साथ-साथ नई दिल्ली जैसे मैदानी इलाकों के शहर इस आने वाले भूकंप को लेकर तैयार नहीं हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

बता दें हिमालय में आखिरी बड़ा झटका 2015 में नेपाल में आए भूकंप था, जिसकी रिक्टर पैमाने (Richter Scale) पर तीव्रता 7.8 थी. इस घटना में लगभग 9,000 लोग मारे गए थे और 22,000 लोग घायल हुए थे. ये भूकंप नेपाल की राजधानी काठमांडू के बड़े हिस्से में आया था. नेपाल में आया भूकंप इतना प्रभावी था कि इससे राजधानी काठमांडू 1.5 मीटर दक्षिण में खिसक गई थी.

सीस्मोलॉजिस्ट के मुताबिक ये निश्चित नहीं हैं कि ये भूकंप कब आएगा. ये जल्द ही या कुछ सौ सालों में कभी भी आ सकता है लेकिन वो जोर देकर कह रहे हैं कि जल्द ही इसके लिए देश को तैयार होना जरूरी है.

भूकंप के क्षेत्र के आधार पर भारत के चार हिस्से

भारत को भूकंप के क्षेत्र के आधार पर चार हिस्सों- सिस्मिक जोन-2, जोन-3, जोन-4 और जोन-5 में बांटा गया है. जोन 2 बूकंप के लिहाज से सबसे कम और जोन-5 सबसे ज्यादा संवेदनशील माना गया है. जोन 5 में भारत के जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्से शामिल हैं. उत्तराखंड के निचले हिस्से, उत्तर प्रदेश के ज्यादातर हिस्से और राजधानी दिल्ली जोन-4 में आती हैं. मध्य भारत जोन-3 में और जोन-2 में दक्षिण भारत के इलाके आते हैं.

भूकंप आपदा आपदा के लिए भारत की योजना काफी हद तक ढीली मालूम हो रही है. सितंबर 2019 में, राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) ने भूकंप आपदा जोखिम सूचकांक (एड्री) की रिपोर्ट पब्लिश की थी जिसमें विशेष रूप से भूकंपीय क्षेत्रों IV और V (भारत में दो सबसे सक्रिय क्षेत्र) में महानगरों और शहरों सहित 50 शहरों को देखा गया था. सर्वे में शामिल शहरों में से 30 शहर (दिल्ली सहित) मध्यम स्तर के जोखिम पर और 13 (ज्यादातर हिमालयी शहर, शिमला सहित) उच्च जोखिम में हैं.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts