केरल: CMO तक पहुंची 30 किलो सोने की तस्करी की आंच, मुख्यमंत्री विजयन ने प्रमुख सचिव को हटाया

इस मामले में बीजेपी नेता सुरेंद्रन ने मुख्यमंत्री कार्यालय के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि जैसे ही स्वप्ना सुरेश के इस मामले में आरोपी होने का पता चला, मुख्यमंत्री कार्यालय और आईटी सचिव ने सीमा शुल्क विभाग पर उसे रिहा करने का दबाव बनाया.  
kerala gold smuggling case, केरल: CMO तक पहुंची 30 किलो सोने की तस्करी की आंच, मुख्यमंत्री विजयन ने प्रमुख सचिव को हटाया

केरल (Kerala) की राजधानी तिरुवनंतपुरम के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर रविवार को अधिकारियों ने एयर कार्गो के जरिए पहुंचे सामान में 30 KG सोना (Gold) बरामद किया. जिसके बाद केरल के CMO तक हड़कंप मच गया. इस मामले को लेकर बीजेपी नेता सुरेंद्रन ने मुख्यमंत्री कार्यालय के खिलाफ मोर्चा खोल दिया.

वहीं सोने की तस्करी मामला सामने आने के बाद वरिष्ठ आईएएस अधिकारी एम शिवशंकर को प्रमुख सचिव के पद से हटा दिया गया है. बताया जा रहा है कि सोने की तस्करी के तार UAE के महावाणिज्य दूतावास से संबंधित एक राजनयिक खेप से जुड़े हुए हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

ये है पूरा मामला

UAE की एक पूर्व वाणिज्य अधिकारी स्वप्ना सुरेश इस मामले की मुख्य आरोपी हैं. फिलहाल वह केरल राज्य सूचना प्रौद्योगिकी इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (KSITIL) के तहत स्पेस पार्क की विपणन संपर्क अधिकारी भी हैं.

जैसे ही यह मामला सामने आया तो बीजेपी नेता सुरेंद्रन ने मुख्यमंत्री कार्यालय के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. उन्होंने तुरंत प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की और आरोप लगाते हुए कहा कि जैसे ही स्वप्ना सुरेश के इस मामले में आरोपी होने का पता चला, मुख्यमंत्री कार्यालय और आईटी सचिव ने सीमा शुल्क विभाग पर उसे रिहा करने का दबाव बनाया.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आरोपों को खारिज करते हुए सीएम पिनाराई विजयन ने कहा कि स्वप्ना को उनकी जानकारी के बिना नियुक्त किया गया था. मुझे पता नहीं है कि उसे किन परिस्थितियों में नियुक्त किया गया था. यह मेरी सहमति नहीं थी. उन्होंने आश्वासन दिया कि इस मामले में कोई भी दोषी सज़ा से बच नहीं सकेगा. बता दें कि सोने की तस्करी मामला सामने आने के बाद वरिष्ठ आईएएस अधिकारी एम शिवशंकर को प्रमुख सचिव के पद से हटा दिया गया है.

इसी बीच, सीमा शुल्क विभाग ने बताया है कि स्वप्ना सुरेश फरार चल रही है, जबकि एक पूर्व वाणिज्य दूतावास पीआर सारथ को भी मामले में पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है. अपराध कबूल करने के बाद उसे सीमा शुल्क कार्यालय कोच्चि ले जाया गया.

Related Posts