कांग्रेसी नेता शशि थरूर के खिलाफ जारी हुआ गिरफ्तारी वारंट, ये बयान देकर बुरा फंसे

ऑनलाइन मीडिया के मुताबिक, पिछले साल शशि थरूर ने 'हिन्दू-पाकिस्तान' संबंधी एक टिप्पणी की थी, उसी मामले में कोलकाता की एक अदालत ने मंगलवार को कांग्रेस सांसद शशि थरूर के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है.

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता शशि थरूर की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. कोलकाता की एक अदालत ने ‘हिंदू-पाकिस्तान’ वासी टिप्पणी पर गिरफ्तारी वारंट जारी किया है.

ऑनलाइन मीडिया के मुताबिक, पिछले साल शशि थरूर ने ‘हिन्दू-पाकिस्तान’ संबंधी एक टिप्पणी की थी, उसी मामले में कोलकाता की एक अदालत ने मंगलवार को कांग्रेस सांसद शशि थरूर के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है. कोलकाता की एक मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट अदालत ने तिरुवनंतपुरम सांसद के खिलाफ यह वारंट जारी किया. अदालत ने यह फैसला एडवोकेट सुमीत चौधरी द्वारा दायर एक मामले पर दिया.

पिछले साल जुलाई में शशि थरूर ने कहा था कि अगर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) 2019 का लोकसभा चुनाव जीत जाती है तो इससे हिन्दू-पाकिस्तान के गठन की स्थिति पैदा होगी. थरूर ने कहा था, ‘अगर वे (बीजेपी) दोबारा लोकसभा चुनाव जीतते हैं तो हमारा लोकतांत्रिक संविधान खत्म हो जाएगा क्योंकि उनके पास भारतीय संविधान की धज्जियां उड़ाने और एक नया संविधान लिखने वाले सारे तत्व हैं.’

शशि थरूर ने कहा था कि ‘उनका लिखा नया संविधान हिंदू राष्ट्र के सिद्धांतों पर आधारित होगा जो अल्पसंख्यकों के समानता के अधिकार को खत्म कर देगा और देश को हिंदू पाकिस्तान बना देगा. महात्मा गांधी, नेहरू, सरदार पटेल, मौलाना आजाद और स्वतंत्रता संग्राम के महान सेनानियों ने ऐसे मुल्क के लिए लड़ाई नहीं लड़ी थी.’