‘हम न कोरोना को रोक पाए और न इकोनॉमी को बचा पाए’, कांग्रेस सांसद शशि थरूर का केंद्र पर हमला

कांग्रेस सांसद शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने कोरोनोवायरस (COVID-19) संकट से निपटने और अर्थव्यवस्था के प्रबंधन को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा.

कांग्रेस सांसद शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने कोरोनोवायरस (COVID-19) संकट से निपटने और अर्थव्यवस्था के प्रबंधन को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा. थरूर ने कहा “हम न तो वायरस के प्रसार को सीमित कर पाए और न ही हम अर्थव्यवस्था को बचाए रखने में कामयाब रहे हैं.”

थरूर ने रविवार को लोकसभा में महामारी पर चर्चा के दौरान कहा कि ”41 साल में पहली बार GDP (सकल घरेलू उत्पाद) वास्तव में इतनी गिरी है, हमारे रोजगार का संकट पहले भी बदतर हो गए हैं, छोटे और मध्यम कारोबार तबाह हो गए हैं, व्यापार ध्वस्त हो गया है. केरल के तिरुवनंतपुरम से सांसद थरूर ने कहा कि केंद्र लॉकडाउन नियमों में ढील देने से पहले राज्यों से परामर्श नहीं कर रहा है.”

सरकार की तैयारी में कमी और कुप्रबंधन देखने को मिला

थरूर ने आरोप लगाया, ”इस बीमारी की वजह से सरकार के लिए एक अच्छी बात ये हो गई कि उसे मुंह छिपाने का बहाना मिल गया’ देश में हर दिन कोरोना के सबसे ज्यादा मामले आ रहे हैं और सर्वाधिक मौतें भी हो रही हैं यह गंभीर चिंता का विषय है.’ सरकार की ओर से कुप्रबंधन देखने को मिला. उन्होंने कहा कि किसी भी लोकतंत्र में चुनी हुई सरकार की जिम्मेदारी नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करना होता है. लेकिन हमने देखा कि सरकार के कामोंं में स्पष्टता और तैयारियों की भारी कमी रही.

थरूर ने कविता से सरकार पर किया हमला

कांग्रेस सांसद थरूर ने कहा यह सरकार की जिम्मेदारी है कि वह देश को विश्वास में ले, न कि लोगों को अंधेरे में रखे. प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना के खिलाफ 21 दिनों में लड़ाई जीती जाएगी. लेकिन पिछले छह महीने से स्थिति खराब होती जा रही है.

उन्होंने एक कविता के माध्यम से सरकार पर तंज कसते हुए कहा, ‘हम यह नहीं कहते कि महामारी नहीं थी, हम यह बता रहे हैं कि तैयारी नहीं थी.’ थरूर ने दावा किया कि कोरोना संकट के खिलाफ सरकार के प्रयास गुमराह करने वाले थे लेकिन वह पूरी तरह विफल रहे.

Related Posts