डिटेंशन कैंप पर चिदंबरम और अमित शाह का एक सा जवाब, दोनों ने कहा- CAA और NRC से नहीं है वास्ता

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम से पत्रकारों ने UPA सरकार के समय बनाए गए डिटेंशन सेंटर पर जब सवाल पूछा था.

नागरिकता कानून (Citizenship Act) और एनआरसी (NRC) के साथ-साथ अब देश में डिटेंशन कैंप पर विवाद लगातार बढ़ता जा रहा है. इस बीच मजे की बात यह है कि सरकार और विपक्ष जो इस मुद्दे को लेकर एक दूसरे पर निशाना साध रहे हैं. डिटेंशन कैंप के सवाल पर दोनों पक्षों का जवाब एक दूसरे से मिलता जुलता है.

दरअसल हुआ यह कि प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम से पत्रकारों ने UPA सरकार के समय बनाए गए डिटेंशन सेंटर पर जब सवाल पूछा, तो उनकी तरफ से जो जवाब मिला वो कहीं न कहीं गृह मंत्री अमित शाह के जवाब से मिलता जुलता ही था.

पी. चिदंबरम से पूछा गया, “कांग्रेस के समय में बने डिटेंशन कैंप और बीजेपी के समय में बने डिटेंशन कैंप में क्या अंतर है?” इस पर चिदंबरम ने जवाब दिया, “यूपीए (UPA) के कार्यकाल में बनाए गए डिटेंशन कैंप फॉरिनर एक्ट के तहत बनाए गए थे और इन कैंप में देश में पकड़े गए विदेशी नागरिकों को रखा जाता था. उनका CAA और NRC से कोई वास्ता नहीं है. वह कोर्ट के आदेश पर बनाए गए थे. इन कैंप में करीब सौ लोगों को रखा जाना था. लेकिन अब जो डिटेंशन सेंटर बनाए जा रहे हैं, वह लाखों लोगों के लिए बनाए जा रहे हैं.”

ऐसा ही जवाब गृह मंत्री अमित शाह ने कुछ दिन पहले एक इंटरव्यू में भी दिया था. जब उनसे डिटेंशन कैंप पर सवाल पूछा गया था.

24 दिसंबर को न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए गए एक इंटरव्यू में गृह मंत्री अमित शाह ने डिटेंशन कैंप के सवाल पर कहा, “देश में पहले से ही डिटेंशन सेंटर हैं. उनमें ऐसे लोगों को रखा जा रहा है, जो अवैध रूप से पकड़े गए हैं. इन्‍हें NRC के लिए नहीं बनाया गया है. डिटेंशन सेंटर देश में हैं तो इसकी एक प्रक्रिया है. ये अवैध पकड़े गए लोगों के लिए है. असम में जिन लोगों को नागरिकता से बाहर रखा गया है, उन्हें भी डिटेंशन सेंटर में नहीं रखा गया है. अब कोई व्यक्ति बिना पासपोर्ट के पकड़ा जाता है तो उसे हमें कहीं तो रखना होगा.”

दोनों ही नेताओं के जवाब डिटेंशन सेंटर पर काफी हद तक एक जैसे ही हैं. वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण में बोला था कि देश में कोई डिटेंशन कैंप नहीं है, इस पर राहुल गांधी ने असम के डिटेंशन कैंप की एक वीडियो ट्वीट कर पीएम मोदी पर देश से झूठ बोलने का आरोप लगाया था.

ये भी पढ़ें: NPR-NRC मामले में लालू यादव को भाजपा प्रवक्ता ने दिया जवाब, कहा- भ्रम और भय न फैलायें

Related Posts