अपनी ही शादी में नहीं पहुंच सका कश्‍मीर में तैनात ये जवान

अपनी ही शादी में न पहुंच पाने वाले इस जवान से जुड़ी खबर जिसने भी पढ़ी, वो हैरान रह गया. इंडियन आर्मी ने भी सुनील के बारे में छपी एक रिपोर्ट को ट्वीट करते हुए लिखा- एक सैनिक के लिए देश हमेशा पहले होता है, जिदंगी उसके लिए और इंतजार कर लेगी.

indian army

श्रीनगर: एक सैनिक की जिंदगी कितनी कठिन होती है, ये तो आप सभी जानते हैं, लेकिन क्‍या आपने कभी ऐसी खबर सुनी है कि कोई जवान अपनी ही शादी में न पहुंच पाया हो. हिमाचल प्रदेश के मंडी के रहने वाले जवान का नाम है सुनील कुमार. वो कश्‍मीर में तैनात हैं, जहां भारी बर्फबारी के चलते वह रास्‍ते में ही अटक गए.

अपनी ही शादी में न पहुंच पाने वाले इस जवान से जुड़ी खबर जिसने भी पढ़ी, वो हैरान रह गया. इंडियन आर्मी ने भी सुनील के बारे में छपी एक रिपोर्ट को ट्वीट करते हुए लिखा- एक सैनिक के लिए देश हमेशा पहले होता है, जिदंगी उसके लिए और इंतजार कर लेगी. है न कमाल की बात, इसे कहते हैं जज्‍बा, देश पर जान न्‍योछावर करने वाले भारत माता के सपूत ऐसे ही होते हैं.

चलिए अब विस्‍तार से बताते हैं पूरी कहानी. मंडी के रहने वाले सैनिक सुनील की गुरुवार यानी 16 जनवरी 2020 को शादी होनी थी. जवान की शादी की रस्में बुधवार से ही शुरू हो गई थीं. गुरुवार को बारात की सारी तैयारियां भी पूरी हो गई थीं. दोनों परिवारों के घर सजे गए थे. चारों तरफ धूमधाम मची हुई थी, ठीक वैसी ही जैसी रौनक शादी वाले घर में होती है. सभी रिश्तेदार भी पहुंच गए थे. बस इंतजार था, तो दूल्‍हे का.

जवान सुनील की छुट्टियां 1 जनवरी से शुरू होनी थी और वह कुछ दिनों पहले ही बांदीपोरा स्थित ट्रांजिट कैंप पर पहुंच गया था, लेकिन ऐन टाइम पर बर्फबारी ने काम खराब कर दिया.

खराब मौसम की वजह से सभी रास्ते बंद हो गए थे, जिसके चलते सुनील बांदीपोरा में ही फंस गया. दुल्‍हन और उसके परिवार को जब पता चला कि सुनील अब तक घर ही नहीं पहुंचा तो वे हैरान हो गए. सुनील ने श्रीनगर से उन सभी के साथ बात की और बताया कि खराब मौसम की वजह से फ्लाइट टेकऑफ नहीं कर सकी.

सुनील भारतीय सेना की चिनार कॉर्प्‍स में तैनात है.इस खबर पर चिनार कॉर्प्स ने रविवार को ट्वीट करके कहा, ‘जिंदगी इंतजार करेगी यह वादा है. भारतीय सेना का एक जवान कश्मीर घाटी में भारी बर्फबारी की वजह से अपनी शादी में नहीं पहुंच सका. चिंता मत करिए जिंदगी इंतजार करेगी.देश हमेशा सबसे पहले है. दुल्‍हन के परिवार वाले नई तारीख के लिए राजी हैं.एक सैनिक की जिंदगी का बस एक और दिन.’

Related Posts