• Home  »  देश   »   भारत में कोरोना टेस्ट की संख्या हुई 7 करोड़ के पार, बढ़ रहा रिकवरी रेट

भारत में कोरोना टेस्ट की संख्या हुई 7 करोड़ के पार, बढ़ रहा रिकवरी रेट

भारत ने अपनी टेस्टिंग कैपेसिटी को बढ़ाने के लिए लैब्स (Labs) की संख्या में बढ़ोतरी की है. स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने अपने एक बयान में कहा कि ज्यादा संख्या में टेस्ट होने से शुरूआती लक्षण वाले मरीजों की पहचान हो जाती है जिससे उन्हें स्वस्थ व्यक्तियों से अलग रखा जा सकता है.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 4:36 pm, Sat, 26 September 20
corona
प्रतिकात्मक

भारत में कोरोनावायरस संक्रमण (Coronavirus) का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है, लेकिन इसी के साथ देश में कोरोना टेस्ट (Corona Test) की संख्या भी बढ़ती जा रही है. भारत की टेस्टिंग कैपेसिटी हर दिन 14 लाख से ज्यादा हो गई है. स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, शनिवार को देश में कोरोना टेस्ट की संख्या 7 करोड़ के पार पहुंच गई है. पिछले 24 घंटों में भारत में 13 लाख 41 हजार 535 सैंपल्स का टेस्ट लिया गया और देश में अब तक कुल 7,02,69,975 टेस्ट किए जा चुके हैं.

वहीं यदि देश में संक्रमण के मामलों की बात की जाए तो पिछले 24 घंटों में भारत में 85,365 नए पॉजिटिव मामले सामने आए हैं. इन नए मामलों में से 75 प्रतिशत 10 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में सामने आए हैं. मंत्रालय के मुताबिक महाराष्ट्र इस लिस्ट में सबसे ऊपर है, जहां पिछले 24 घंटों में 17 हजार से ज्यादा पॉजिटिव केस सामने आए हैं. वहीं कर्नाटक में 8,000 और आंध्र प्रदेश में 7,000 से ज्यादा नए मामले दर्ज किए गए हैं.

भारत में बढ़ रही ठीक होने वाले मरीजों की संख्या

संक्रमण फैलने के साथ-साथ भारत में इससे ठीक होने की दर (Recovery Rate) भी ज्यादा है. पिछले कुछ दिनों से कोविड (Covid-19) से ठीक होने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है. पिछले 24 घंटों में देश में 93,420 मरीज इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं और इसी के साथ अब तक ठीक हुए कुल मरीजों की संख्या शनिवार को 48,49,584 तक पहुंच गई है. कोरोना से पिछले 24 घंटों में 1,089 लोगों की मौत हुई हैं और अब तक 93,379 मरीजों की मौत हो चुकी है. वहीं देश में एक्टिव मामलों की संख्या 9,60,969 है.

ये भी पढ़ें : Covid-19 के सक्रिय मामलों में गिरावट, पहली बार भारत की ‘R’ वैल्यू एक से कम

आने वाले दिनों में पॉजिटिव मामलों में हो सकती है कमी

भारत ने अपनी टेस्टिंग कैपेसिटी (जांच की क्षमता) को बढ़ाने के लिए लैब्स की संख्या में बढ़ोतरी की है. वर्तमान में देश में 1,823 लैब्स हैं, जिनमें 1,086 सरकारी और 737 प्राइवेट लैब्स शामिल हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने अपने एक बयान में कहा कि ज्यादा संख्या में टेस्ट होने से शुरूआती लक्षण वाले मरीजों की पहचान हो जाती है, जिससे उन्हें स्वस्थ व्यक्तियों से अलग रखा जा सकता है और संक्रमण को फैलने से काफी हद तक रोका जा सकता है.

उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में इसके अच्छे नतीजे सामने आ सकते हैं और पॉजिटिव मामलों में कमी होने की उम्मीद है. इस समय भारत में पॉजिटिविटी रेट 8.40 प्रतिशत और रिकवरी रेट बढ़कर 82.14 प्रतिशत हो गया है.

ये भी पढ़ें : कोरोना से ठीक होकर फिर से मरीजों की सेवा कर नर्स ने पेश की मिसाल