ऋचा के सपोर्ट में आए लोग, कहा-“ओवैसी को जय श्री राम बोलने को कहा जाए तो बेहोश हो जाएंगे”

वकील के मुताबिक ऋचा को स्थानीय पुलिस की मदद से स्कूल और कॉलेज में कुरान की चार प्रतियां और अंजुमन इस्लामिया को एक प्रति देनी होगी.

नई दिल्ली: कोर्ट ने एक लड़की को फेसबुक पर कथित सांप्रदायिक पोस्ट करने के लिए कुरान की पांच कॉपियां बांटने की सजा सुनाई है. जानकारी के मुताबिक आरोपी लड़की का नाम ऋचा भारती है, जिसके खिलाफ कथित तौर पर सांप्रदायिक पोस्ट करने को लेकर पिथोरिया पुलिस स्टेशन में एक मामला दर्ज कराया गया.

ऋचा के वकील प्रवेश के मुताबिक उसे स्थानीय पुलिस की मदद से स्कूल और कॉलेज में कुरान की चार प्रतियां और अंजुमन इस्लामिया को एक प्रति देनी होगी. उसे कोर्ट में इन कुरानों की प्रति बांटने की रसीद भी जमा करानी होगी.

ऋचा भारती को मिली इस सजा पर लोगों ने सोशल मीडिया पर विरोध जताते हुए अलग-अलग रिएक्शन दिए हैं.

शेफाली वैद्य ने ट्वीट किया है, ‘हम भारत में हैं या सऊदी अरब में रह रहे हैं?’

शेफाली ने ये भी लिखा, ‘भारत में, मुस्लिम शहीद स्मारक को लात मारते हैं, राज्य कुछ भी नहीं करता है. मुस्लिम बलात्कार करते हैं, मारते हैं, मंदिरों को तोड़ते हैं, उन्हें बिना शर्त जमानत मिलती है. वहीं एक हिंदू महिला, ऋचाभारती को एक हिंदू जज द्वारा कुरान बांटने की सजा दी जाती है. शेम.’

‘जो लोग विकृत सेक्युलरिज्म के मरीज हैं उनसे उत्तर की अपेक्षा न करें! ऋचा भारती को कुरान बांटने की सजा पर वो जश्न मनाएंगे लेकिन ओवैसी या अजीज से जय श्री राम या वंदेमातरम् बोलने को कहा जाए तो वो बेहोश हो जाएंगे.’

सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वाले तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने ट्वीट कर बताया है, ‘रिचा के पिताजी ने बताया कि फिलहाल झारखण्ड हाई कोर्ट के लिए उन्हें एक अच्छा वकील मिल चुका है, मैंने उनसे कहा कि अगर आपको सुप्रीम कोर्ट में भी जरूरत पड़ती है तो दिल्ली में बेहतर से बेहतर वकील उपलब्ध मैं करवाने को तैयार हूं.’

मीडिया पर्सन प्रदीप भंडारी ने लिखा है, ‘मैं ऋचा भारती के साथ हूं क्योंकि कल को ये किसी के भी साथ हो सकता है. क्या कोर्ट किसी मुस्लिम को गीता बांटने की सजा देगा?’
Richa Bharti, ऋचा के सपोर्ट में आए लोग, कहा-“ओवैसी को जय श्री राम बोलने को कहा जाए तो बेहोश हो जाएंगे”

बता दें कि मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने लड़की को गिरफ्तार कर लिया. जिसके बाद कोर्ट में न्यायिक मजिस्ट्रेट मनीष सिंह ने उसे जमानत देते हुए अंजुमन इस्लामिया समेत पांच अन्य संस्थानों को कुरान बांटने की सजा सुनाई. रिचा के वकील राम प्रवेश सिंह का कहना है कि अदालत ने उसे सशर्त जमानत दी है. रिचा को एक कुरान जल्द और बाकी की कुरान 15 दिनों के भीतर बांटनी होगी.