सोशल मीडिया यूजर ने पूछा- क्या देश कोरोना के कम्युनिटी ट्रांसमिशन फेज में है? हर्षवर्धन ने दिया ये जवाब

केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन (Harsh vardhan) के साप्ताहिक कार्यक्रम 'संडे समवाद' में एक सोशल मीडिया यूजर ने सवाल ने किया कि क्या भारत Covid-19 के कम्युनिटी ट्रांसमिशन फेज में है?

Union Minister Dr Harsh Vardhan
File Pic- Union Minister Dr Harsh Vardhan

देशभर में कोरोनावायरस के पॉजिटिव केस की संख्या 54 लाख के पार पहुंच गई है. इस बीच रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने एक सोशल मीडिया यूजर के कम्युनिटी ट्रांसमिशन के सवाल पर कहा कि देश के केवल 10 राज्यों में ही कोरोना के सबसे ज्यादा एक्टिव केस सामने आ रहे हैं.

दरअसल केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन रविवार को अपने एक साप्ताहिक कार्यक्रम संडे समवाद के जरिए सोशल मीडिया पर लोगों के सवालों के जवाब देते हैं. वहीं एक यूजर ने सवाल ने किया कि क्या भारत Covid-19 के कम्युनिटी ट्रांसमिशन फेज में है? मालूम हो कि संडे समवाद का आज यह दूसरा ही एपिसोड था.

केंद्रीय मंत्री ने कहा, “कुछ जिलों में कोरोनावायरस का प्रकोप काफी तेजी से बढ़ रहा है. राज्यों के विशिष्ट प्रयासों के मद्देनजर, देश के 77 फीसदी केस केवल 10 राज्य से ही आ रहे हैं. यदि आप राज्यवार डेटा देखते हैं, तो आप पाएंगे कि संक्रमण के मामले कुछ ही जिलों में ज्यादा बढ़ रहे हैं.”

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शनिवार को जारी की गई एक रिपोर्ट के मुताबिक महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु में ही देश के कुल मामलों के 60 प्रतिशत हैं. ज्यादा मामलों के साथ ही इन राज्यों में रिकवरी रेट भी अच्छा है.

क्या होता है कम्युनिटी ट्रांसमिशन फेज?

बता दें कि कम्युनिटी ट्रांसमिशन फेज वो चरण है, जिसमें एक नए संक्रमण के सोर्स का पता नहीं लगाया जा सकता है, यानी यह इस फेज में किसी भी नए मामले में यह पता लगाना मुश्किल होता है कि संक्रमण के फैलने की शुरुआत कहां से हुई थी.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री का यह बयान ऐसे समय पर आया है, जब एक दिन पहले ही दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने केंद्र पर कटाक्ष किया और कहा कि केंद्र को अब कम्युनिटी ट्रांसमिशन फेज शुरू होने की बात स्वीकार करनी चाहिए.

“कोरोनावायरस का कम्युनिटी ट्रांसमिशन फेज शुरू”

मालूम हो कि शनिवार को सत्येंद्र जैन ने जब दिल्ली और देश के अन्य हिस्सों में लोग इतनी बड़ी संख्या में संक्रमित हो रहे हैं, तो यह स्वीकार किया जाना चाहिए कि वायरस का सामुदायिक प्रसार हुआ है. आईसीएमआर (ICMR) और केंद्र सरकार ही इस बारे में कुछ बता सकती है.

साथ ही उन्होंने कहा कि वह तकनीकी रूप से इसे नहीं समझा सकते, लेकिन वह कह सकते हैं कि वायरस समुदाय में फैला हुआ है. उन्होंने कहा कि सामुदायिक प्रसार एक तकनीकी शब्द है, जिसके बारे में केवल वैज्ञानिक ही बता सकते हैं.

 

Related Posts