‘AC स्टूडियो में बैठ हर शाम तीतर लड़ाने वाले लोग इस रिपोर्टर से लें सीख’, टीवी9 भारतवर्ष की मुहिम पर रिएक्शन

एक सोशल मीडिया यूजर ने लिखा है कि पत्रकारिता करने का साहस आपके अंदर है. मैं उसे तहे दिल से मैं सलाम करता हूं.


नई दिल्ली: बिहार के मुजफ्फरपुर में इंसेफेलाइटिस से हो रही मासूमों बच्चों की मौत के मामले पर टीवी9 भारतवर्ष की मुहिम लगातार जारी है. इस बीच टीवी9 भारतवर्ष के संवाददाता रूपेश कुमार द्वारा बीजेपी नेता से किए गए सवाल-जवाब की काफी सराहना हो रही है. ये शख्स खुद को बीजेपी नेता बता रहा था और हॉस्पिटल के आईसीयू वार्ड में जूते पहनकर बैठा हुआ था जबकि वार्ड में स्टाफ के अलावा किसी को भी जाने की अनुमति नहीं थी.

टीवी9 भारतवर्ष के रिपोर्टर से बीजेपी नेता ये दावा कर रहे थे कि वो यहां पर किसी मरीज को देखने आए हैं. लेकिन नेता जी यह नहीं बता कि वो अपने मरीज को छोड़कर आईसीयू के वार्ड में बैठकर क्या कर रहे हैं. नेता जी जब घिरते नजर आए तो उन्होंने अपना जूता उतारा और दोबारा कुर्सी पर जाकर बैठ गए. कुछ ही समय में वो ये भी कहने लगे कि वो बीजेपी के नेता नहीं कार्यकर्ता हैं. सोशल मीडिया पर लोगों ने इस रिपोर्ट पर खूब प्रतिक्रियाएं दी हैं. लोग टीवी9 भारतवर्ष की मुहिम की जमकर तारीफ कर रहे हैं.





muzaffarpur, ‘AC स्टूडियो में बैठ हर शाम तीतर लड़ाने वाले लोग इस रिपोर्टर से लें सीख’, टीवी9 भारतवर्ष की मुहिम पर रिएक्शन



बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को मुजफ्फरपुर के श्री कृष्णा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (एसकेएमसीएच) दौरा किया. नीतीश को यहां पर मासूमों के परिजनों का विरोध झेलना पड़ा. ‘नीतीश कुमार वापस जाओ’ के नारे लगाए गए. नीतीश दोपहर 2 बजे प्रेस कॉन्‍फ्रेंस भी करेंगे. जिले में AES से अब तक 107 बच्‍चों की मौत हो चुकी है.

ये भी पढ़ें-

LIVE: मुजफ्फरपुर में बच्‍चों की मौत टीवी9 भारतवर्ष की मुहिम से खलबली, एक्‍शन में नीतीश

ओम बिड़ला होंगे लोकसभा के अगले स्‍पीकर! जानिए कौन हैं जिन्‍हें PM मोदी ने चुना

शहीद इंस्पेक्टर के बेटे को गोद में लेकर फूट-फूटकर रो पड़े श्रीनगर के SSP, फोटो Viral