इलाहाबाद हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, सपा सांसद आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम नहीं रहेंगे विधायक

हाईकोर्ट में 27 सितंबर को इस बारे में फैसला सुरक्षित रख लिया गया था. जस्टिस एसपी केसरवानी की बेंच ने यह फैसला सुनाया था.

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान के बेटे और रामपुर की स्वार सीट से विधायक अब्दुल्ला आजम का निर्वाचन सोमवार को रद्द कर दिया है. कोर्ट ने कहा कि चुनाव के समय अब्दुल्ला पात्रता के लिए निर्धारित न्यूनतम उम्र 25 साल के नहीं थे. अब वह विधायक नहीं रहेंगे.

हाईकोर्ट में 27 सितंबर को इस बारे में फैसला सुरक्षित रख लिया गया था. जस्टिस एसपी केसरवानी की बेंच ने यह फैसला सुनाया था. कोर्ट ने कहा कि अब्दुल्ला आजम ने 2017 के विधानसभा चुनाव के दौरान अपनी आयु से संबंधित फर्जी दस्तावेज पेश किए थे और चुनाव के समय उनकी आयु चुनाव लड़ने के योग्य नहीं थी.

अब्दुल्ला आजम के निर्वाचन के खिलाफ तत्कालीन बसपा नेता नवाब काजिम अली ने याचिका दायर की थी. नवाब अब कांग्रेस में हैं. अली ने अपनी याचिका में कहा था कि साल 2017 में चुनाव के समय अब्दुल्ला की आयु 25 साल से कम थी, लेकिन चुनाव लड़ने के लिए उन्होंने फर्जी दस्तावेज पेश किए.

अब्दुल्ला ने कोर्ट के आदेश पर कोई प्रतिक्रिया देने से इंकार कर दिया है. उनके सहयोगी ने कहा कि हाईकोर्ट के आदेश को वे सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देंगे. कोर्ट के फैसले के बाद आजम खान और उनके परिवार को बड़ा झटका लगा है. खान खुद भी कई कानूनी मामले को झेल रहे हैं.

ये भी पढ़ें –

LIVE : जामिया, AMU के बाद लखनऊ के नदवा कॉलेज में बवाल, शांति होने तक सुनवाई से SC का इनकार

राहुल गांधी के ‘रेप इन इंडिया’ वाले बयान पर चुनाव आयोग ने झारखंड CEO से मांगी रिपोर्ट