Nautapa में 31 मई तक सूरज बरसाएगा आग, Weather Forecast से इतनी समानता क्यों?

धार्मिक शास्त्रों के मुताबिक पारंपरिक तौर पर नौतपा (Nautapa) के इन दिनों में कुछ विशेष कार्य किए जाते हैं. इन दिनों महिलाएं हाथ-पैरों में मेंहदी लगाती हैं. ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि मेंहदी की तासीर ठंडी (Cold) होती है.
high temperature in Nautapa till 31 May, Nautapa में 31 मई तक सूरज बरसाएगा आग, Weather Forecast से इतनी समानता क्यों?

भारतीय मौसम विभाग (Indian Meterological Department) के पूर्वानुमान (Weather Forecast) के मुताबिक अगले हफ्ते तक भीषण गर्मी से कोई राहत मिलने की उम्मीद नहीं है. अधिकतम तापमान 47-48 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है. वहीं सोमवार से पारंपरिक नौतपा (Nautapa 2020) की शुरुआत भी हो गई है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

इस बार नौतपा के पहले सात दिन सूरज आग बरसाता दिखेगा यानी पारा काफी बढ़ा हुआ रहने वाला है. इसकी वजह यह है कि इस दौरान सूर्य की लंबवत किरणें धरती पर पड़ती हैं. नौतपा में अधिकतम तापमान सबसे कम भी होगा तो 40 के पार रहेगा.

कब और क्यों होता है नौतपा

हिंदू पचांग (Callender) के अनुसार ज्येष्ठ महीने में सूर्य रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करता है. ज्योतिषशास्त्र के अनुसार सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में होने से गर्मी बढ़ती है. जब सूर्य रोहिणी नक्षत्र में होता है और वृष राशि के 10 से 20 अंश तक रहता है, तब नौतपा लगता है.

25 मई से 2 जून तक नौतपा

इस साल 25 मई, सोमवार को सूर्य रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश में करेंगे और 8 जून, सोमवार तक यानी 15 दिनों के लिए इसी नक्षत्र में रहेंगे. सूर्य के नक्षत्र बदलते ही नौतपा की शुरुआत मानी जाती है. इसके शुरुआती 9 दिनों को नौतपा कहा जाता है. इस बार 25 मई से जून मई तक नौतपा रहेगा. हालांकि इस बार नौतपा में गर्मी का कहर शुरुआत के सात दिन ही होगा. इस बार सातवें दिन शुक्र ग्रह अस्त हो जाएगा. इसके चलते गर्मी का प्रकोप दो दिन कम रहेगा.

इस अवसर पर क्या खास करते हैं

ज्योतिष और अन्य धार्मिक शास्त्रों के मुताबिक पारंपरिक तौर पर नौतपा के इन दिनों में कुछ विशेष कार्य किए जाते हैं. इन दिनों महिलाएं हाथ-पैरों में मेंहदी लगाती हैं. ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि मेंहदी की तासीर ठंडी होती है. मेंहदी लगाने से गर्मी से राहत मिलती है.

मान्यताओं के अनुसार दान का बहुत अधिक महत्व होता है. इन दिनों में दान करने से कई गुना फल की प्राप्ति होती है. धार्मिक शास्त्रों के मुताबिक इस मौके पर जल का दान करना शुभ होता है. नौतपा में गर्मी बढ़ने से प्यास अधिक लगती है. इसलिए जरूरतमंद लोगों या प्यासे जानवरों को पानी पिलाना चाहिए.

नौतपा में गर्मी के बढ़ जाने से शरीर में पानी की कमी का खतरा भी रहता है. इन दिनों ठंडी तासीर वाली चीज जैसे दही, नारियल पानी वगैरह का अधिक से अधिक सेवन करना चाहिए. अगर संभव हो तो लोगों के बीच इसे बांटना भी चाहिए.

high temperature in Nautapa till 31 May, Nautapa में 31 मई तक सूरज बरसाएगा आग, Weather Forecast से इतनी समानता क्यों?

मानसून से क्या है रिश्ता

मान्यता है कि नौतपा के दौरान अगर बारिश हो जाए तो मानसून के मौसम में सूखा पड़ने की संभावना रहती है. नौतपा में भीषण गर्मी पड़े तो बारिश अच्छी होती है. इस साल नौतपा में भीषण गर्मी और मानसून में सौ फीसदी से ज्यादा सामान्य बारिश का अनुमान है. मौसम विभाग के मुताबिक इस साल करीब 45-50 दिनों तक अच्छी बारिश होने की संभावना है.

देश में कब आएगा मानसून

इस साल 21 जून को सूर्य आद्रा नक्षत्र में प्रवेश कर रहा है. इस दिन से देश के हर इलाके में मानसून सक्रिय हो जाएगा. मौसम विभाग का पूर्वानुमान भी इससे काफी मिलता जुलता है. नौतपा के आखिरी दो दिनों यानी 1-2 जून को देश के कुछ इलाकों में हल्की बारिश की संभावना भी जताई गई है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts