सुनंदा पुष्‍कर की लाश पर थे चोटों के 15 निशान, CBI कोर्ट में दिल्‍ली पुलिस का दावा

सुनंदा पुष्कर 17 जनवरी 2014 की रात दिल्ली के एक होटल में रहस्यमय परिस्थितियों में मृत पाई गई थी. चार्जशीट में दिल्‍ली पुलिस ने शशि थरूर पर सुनंदा को आत्‍महत्‍या के लिए उकसाने का आरोप लगाया है.

सुनंदा पुष्‍कर की मौत के सिलसिले में उनके पति व कांग्रेस नेता शशि थरूर पर आरोप तय करने के लिए जिरह चल रही है. दिल्‍ली पुलिस ने मंगलवार को अदालत के सामने कहा कि सुनंदा पुष्‍कर की लाश पर चोट के 15 निशान थे. पुलिस के मुताबिक, हाथापाई के दौरान ये चोटें लगी थीं. पुष्‍कर की लाश 17 जनवरी, 2014 को साउथ दिल्‍ली के एक होटल रूप में मिली थी.

दिल्‍ली पुलिस ने विशेष सीबीआई न्यायाधीश अरुण भारद्वाज को जानकारी दी कि उन्‍होंने थरूर के खिलाफ आईपीसी की धारा 498ए (पति या पति के रिश्‍तेदार द्वारा महिला संग निर्दयता) और 306 (आत्‍म‍हत्‍या के लिए उकसाने) के तहत चार्जशीट दायर की है. दिल्‍ली पुलिस के वकील अतुल श्रीवास्‍तव ने कहा, “हमारा केस ये है कि मृतका (पुष्‍कर) संग मानसिक के साथ-साथ शारीरिक निर्दयता भी हुई जिससे वह आत्‍महत्‍या के जरिए मजबूर हुईं.”

अभियोजन पक्ष की ओर से दिए गए तर्कों का जवाब देते हुए थरूर के वकील विकास पाहवा ने कहा, “प्रॉसीक्‍यूटर ने अभी जिरह शुरू भर की है. उन्‍हें अपने तर्क खत्‍म कर लेने दीजिए, मैं एक हर तर्क का जवाब दूंगा. वह अभी चुनिंदा चीजें पढ़ रहे हैं.” थरूर ने लगातार सभी आरोपों से इनकार किया है.

पिछले साल 14 मई को थरूर ने लिखा था, सुनंदा पुष्कर 17 जनवरी 2014 की रात दिल्ली के एक होटल में रहस्यमय परिस्थितियों में मृत पाई गई थी. उस समय थरूर और सुनंदा होटल में रह रहे थे, क्योंकि उनके घर पर मरम्मत का काम चल रहा था.

ये भी पढ़ें

कांग्रेसी नेता शशि थरूर के खिलाफ जारी हुआ गिरफ्तारी वारंट, ये बयान देकर बुरा फंसे